• Fri. Apr 12th, 2024

गोलगप्पे देते हैं स्वाद के साथ-साथ सेहत को फायदा

मशहूर स्ट्रीट फूड गोलगप्पे खाने का भारत में एक बहुत ही बड़ा और प्रसिद्ध चलन है। खट्टे-मीठे और मसालेदार गोलगप्पे देखकर किसी भी व्यक्ति के मुँह में पानी आ जाएगा। यह एक ऐसा स्ट्रीट फूड है जिसे लोग एक दो खा ही लेते हैं चाहे उन्होंने खाना खा लिया हो। गोलगप्पे के स्वाद को हर उम्र के लोग काफी पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गोलगप्पे ना सिर्फ मुंह का स्वाद बदलते हैं बल्कि यह सेहत के लिए भी काफी कारगर साबित हो सकते हैं।

गोलगप्पे एक कम कैलोरी वाला भोजन है, साथ ही शुगर के मरीज भी इसको बिना किसी चिंता के खा सकते हैं। यह पेट से जुड़ी समस्याओं से भी छुटकारा दिलाता है। गोलगप्पे में ऐसी चीजों का इस्तेमाल होता है जिनमें पोषक तत्व काफी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। हालांकि इनको रेहड़ी पर खाने से ज्यादा घर पर बनाकर खाना ज्यादा फायदेमंद माना जाता है।

गोलगप्पे के फायदे

इंडिया टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, गोलगप्पे में इस्तेमाल होने वाला जलजीरे का पानी और पुदीना छालों के इलाज में कारगर साबित हो सकता है। गोलगप्पे मैग्नीशियम, मैंगनीज, पोटैशियम, फोलेट, जिंक और विटामिन ए, बी-6, बी-12, सी और डी के अच्छे स्रोत होते हैं। इसलिए इसे खाने से सेहत को कई तरह के लाभ प्राप्त होते हैं और मुँह के छालों के लिए इसका पानी काफी फायदा पहुँचाता है।

डायबिटीज के मरीजों को सबसे ज्यादा अपने खाने-पीने पर ध्यान देना होता है, क्योंकि खाने में जरा सा भी इधर-उधर होने पर शुगर का स्तर बढ़ जाता है। लेकिन गोलगप्पे में कम कार्बोहाइड्रेट होने की वजह से यह डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकते हैं। हालांकि डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है कि इनको खाने की मात्रा कितनी होनी चाहिए।

जलजीरे वाला पानी मुंह से आने वाली दुर्गंध को रोकता है और पाचन में भी काफी मदद करता है। वही पुदीना एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर होता है जो पाचन में काफी मदद करता है। कई बार एसिडिटी की समस्या होने पर डॉक्टर ठंडा पानी पीने की सलाह देते हैं जैसे की जलजीरे का पानी। जलजीरे के पानी में मिला अदरक, जीरा, पुदीना, काला नमक, धनिया एसिडिटी की समस्या को दूर करता है। गोलगप्पे का सबसे जरूरी हिस्सा जलजीरे का पानी होता है।

गोलगप्पे मैं उबले हुए चने का इस्तेमाल किया जाता है जिससे यह प्रोटीनयुक्त हो जाते हैं, इस कारण से गोलगप्पे मोटापा घटाने में भी मददगार हैं। मोटापा ज्यादा कैलोरी से बढ़ता है और गोलगप्पे में इसकी मात्रा काफी कम होती है। अगर आप गोलगप्पे घर पर बना रहे हैं तो सूजी या आटे की जगह आप होल वीट आटे का इस्तेमाल करें। यदि आप दही का इस्तेमाल करते हैं तो यह ज्यादा बेहतर रहेगा क्योंकि यह आपकी कैलोरी को जलाने में काफी मदद करेगा।

गोलगप्पे में इस्तेमाल होने वाला हरा धनिया पेट फूलना और यूरिन की समस्या से आपको छुटकारा दिलाता है। साथ ही पानी में मौजूद हींग, एंटी-फ्लैटुलेंस गुणों के कारण पेट में गड़बड़ी और पीरियड्स में होने वाले दर्द को रोकने में काफी मदद करता है। घर में बने गोलगप्पे के पानी में पुदीना, जीरा, हींग ज्यादा डालने से और मीठा कम डालने से पाचन शक्ति मजबूत होती है। घर में बने हुए गोलगप्पे और उसका पानी पेट की समस्याओं से आपको छुटकारा दिला सकता है।

आशीष ठाकुर – हिमाचल प्रदेश