• Sat. Apr 20th, 2024

डायबेटीज की दवा से कंट्रोल होगा वजन

Aug 21, 2023 ABUZAR ,

मधुमेह एक पुरानी बीमारी है जो रक्त में अत्यधिक शर्करा के स्तर का कारण बन जा रही है। यह दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित करता है। मधुमेह के दो मुख्य प्रकार हैं: टाइप 1 और टाइप 2। टाइप 1 मधुमेह एक बीमारी मानी जाती है। जिसका अर्थ है कि शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र गलती से अग्न्याशय को नष्ट करना शुरु कर देता है, जो इंसुलिन का उत्पादन करता है। इंसुलिन एक हार्मोन है जो शरीर को भोजन से ऊर्जा प्राप्त करने में सहायता कर रहा है।

मधुमेह के इलाज के लिए कई प्रकार की दवाएं उपलब्ध हो चुकी है। जिनमें से कुछ नई दवाएं वजन घटाने में मदद करने का दावा कर रही हैं। इन दवाओं के संबंध में चल रहे अध्ययनों के आधार पर, यह कहना संभव है कि वजन घटाने को लेकर ये नई दवाएं एक बेहतर विकल्प हो सकती हैं।

आमतौर पर, मधुमेह के इलाज में प्रयुक्त दवाएं रक्त शर्करा स्तर को नियंत्रण में रखने का काम आती हैं, लेकिन ये वजन कम करने में सामान्य रूप से मदद नहीं करती हैं। इसके विपरीत, ये नई दवाएं शरीर के मेटाबोलिज्म को प्रभावित करके वजन कम करने में सहायक हो सकती हैं।

सैमैटाइज (सीएमएजी), जिसे 2014 में स्वीकृत किया गया था। सीएमएजी एक इंसुलिन sensitizing दवा है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर को इंसुलिन को अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग कर सकते हैं। सीएमएजी ने कई अध्ययनों में वजन घटाने में प्रभावकारिता दिखाई है, और यह कुछ लोगों के लिए वजन कम करने के लिए एकमात्र उपलब्ध दवा हो सकती है।