• Thu. Dec 1st, 2022

धूप मे घर से निकलना हो सकता है खतरनाक, बचने के लिए इन बातों का रखे ध्यान

नई दिल्ली: भीषण गर्मी का कहर से हर कोई परेशान हो गया है। हर दिन पारा चढ़ता जा रहा है। गर्मियों में होने वाली बीमारियों का सिलसिला भी काफी समय से चलता जा रहा है। धूप और लू की वजह से अक्सर लोग डीहाइड्रेशन का शिकार होना शुरु हो जाते हैं। बावजूद इसके जब हम धूप में कुछ काम करने के लिए बाहर जाते हैं तो कुछ ना कुछ लापरवाली करते हैं जिसकी वजह से हम बीमार हो जाते हैं। इसी तरह जब हम तेज धूप से घर वापस लौट जाते हैं, उस वक्त भी बहुत सारी गलतियां करना शुरु करते हैं। यही गलतियां बीमार होने की अहम वजह बन सकती है।

गर्मी ही नहीं, हम हर बदलते मौसम में बीमार पड़ना शुरु हो जाते हैं। मौसम में हो रहे बदलाव के कारण से इंसान की इम्यूनिटी घटना शुरु हो जाती है। इस वजह से शरीर में कीटाणु और बैक्टीरिया आसानी से आना शुरु हो जाते है। यही आपको बीमार कर देते हैं। इसलिए सलाह यह है कि मौसम के बदलाव को बिल्कुल हल्के में लेने की जरुरत नहीं है।

गर्मी का कनेक्शन हो जाता है जिसकी वजह से तेज धूप, उमस, धूल भरी हवा और संक्रमण से होना शुरु हो गया है। इस मौसम में शरीर में पानी की कमी के अलावा, टाइफाइड, फूड पॉइजनिंग जैसी बीमारियां होना शुरु हो जाती है।

इसके लिए स्किन रिलेटेड बीमारियां जैसे– घमौरी, फंगल इंफेक्शन की दिक्कत हो जाती है। इन सबसे बचने को लेकर खाने-पीने और रहने के दौरान कई तरह की सावधानी बरतने की जरुरत होती है। जैसे– इस मौसम में डिहाइड्रेशन से बचने को लेकर ज्यादा से ज्यादा लिक्विड और ठंडी तासीर वाले डाइट लेना अहम होता है। गन्ने के जूस में बर्फ डालने के बाद पीना इस मौसम में खतरनाक हो सकता है। हाइजीन का ख्याल रखने की जरुरत होती है।

गर्मी में अगर आप कहीं बाहर से चलकर आ चुके हैं या ड्राइव करने के बाद भी आ गए हैं, तो भी तुरंत आने के बाद नहाने की जरुरत नहीं होती है। बाहर से आने के बाद शरीर की टेंपरेचर काफी अधिक होता है। ऐसे में शरीर पर पानी गिरने से हमारे शरीर का टेंपरेचर बिगड़ना शुरु हो जाता है। सर्दी-जुकाम और सिरदर्द की समस्या होना शुरु हो जाती है।

अंज़र हाशमी- उत्तर प्रदेश