• Sat. Jan 28th, 2023

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के सानिध्य में सुल्ताना बनी सुरभि दासी।

जहाँ एक तरफ पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के उपर आस्था के नाम पर लूटने तथा अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया जा रहा था। उन्हे पाखण्डी और चमत्कारी बताया जा रहा था वही दूसरी तरफ उनके प्रभाव से लोग धर्मांतरण के साथ साथ धर्म परिवर्तन भी करने लगे है।
रायपुर में हुई कथा मे एक मुस्लिम महिला ने अपना धर्म परिवर्तन किया है। हम आपको बता दे सुल्ताना अपनी स्वेक्षा से सुरभि दासी बनी है। उन्होंने हिंदू धर्म को सबसे अच्छा धर्म बताया है।
दरबार मे महाराज जी महिला से पूछते है क्या तुमको यहाँ किसी ने बुलाया है? इस बात का जबाब देते हुए सुल्ताना कहती हैं मैं अपनी मर्जी से यहाँ आई हुँ। इसके बाद धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को सुरभि अपना भाई बनाती हैं तथा उन्हे राखी भी बांधती है। धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के सानिध्य में सुल्ताना हिंदू धर्म अपना कर सुरभि दासी बन गयी है।
सुरभि का कहना है सर्वश्रेठ धर्म हिंदू धर्म है। हिंदू धर्म सभ्यता और संस्कारों वाला है हिंदू धर्म में भाई बहन की शादी नही होती । इस धर्म में तलाक तलाक तलाक बोलकर औरतों की जिंदगी बर्बाद नही की जाती हैं । हिंदू धर्म में एक बार शादी होती है और सिंदूर का महत्त्व होता है। फिर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री उनका स्वागत करते है।
सुल्ताना उर्फ सुरभि बताती हैं मै छत्तीसगढ़ राज्य की रहने वाली हुँ। मेरे पिता आमिर खान है मेरे घरवालो ने मुझे त्याग दिया है मेरे तीन भाई है। मैं मूर्ति पूजन करती हूँ तो वो कहते है तुम मुस्लिम धर्म के नाम पर कलंक हो , जहनुम मे जाओगी। पर मुझे इन बातो से कोई फर्क नही पड़ता मै हिंदू धर्म को सबसे अच्छा धर्म मानती हूँ।

Report: वंशिका सिंह