• Fri. Apr 12th, 2024

जी 20 में लिया गया अहम फैसला

Sep 10, 2023 ABUZAR

नई दिल्ली: G20 की बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली आई इटली की प्रधानमंत्री जियोर्जिया मेलोनी ने चीन को बड़ा झटका दिया है। राजधानी दिल्ली में हुई दोनों देशों के बैठक में जियोर्जिया मेलोनी ने चीन के प्रधानमंत्री ली कचियांग को इस बात का संकेत दिया है। बता दें कि इटली 2019 में चीन के वन बेल्ट वन रोड एनिशिएटिव में शामिल हुआ था।

इटली के प्रधानमंत्री ने दिया संकेत

G20 की बैठक में शामिल होने के लिए आई मेलोनी ने चीन के प्रधानमंत्री ली कचियांग के साथ अपनी बैठक के दौरान कहा कि इटली चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के हस्ताक्षरित बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव से हटने की योजना बना रहा है। हालांकि मेलोनी ने ये भी कहा कि वह अभी भी बीजिंग के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध बनाए रखना चाहता है। बता दें इटली आधिकारिक तौर पर चीन के वन बेल्ट वन रोड एनिशिएटिव में शामिल हुआ था।

इटली को सता रहा चीन की नाराजगी का डर

हालांकि, इटली को इस समझौते से हटने को लेकर चीनी नाराजगी का अंदेशा है। इससे मेलोनी दुविधा में हैं।मे लोनी ने कहा कि वह आने वाले महीनों में बीजिंग का दौरा करेंगी ताकि संबंधों में कोई खटास न आए। और वह वहीं, जाकर चीन को अपने फैसले के बारे में अवगत कराएंगी।

नया इकोनॉमिक कॉरिडोर देगा चीन को चुनौती

वहीं, जी20 शिखर सम्मेलन में इंडिया – मिडिल ईस्ट-यूरोप इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाने को लेकर कई देशों ने मिलकर लिया है फैसला। इसको चीनी के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है।

क्या है वन बेल्ट वन रोड एनिशिएटिव?

वन बेल्ट, वन रोड (One Belt One Road-OBOR) परियोजना के द्वारा चीन प्राचीन सिल्क मार्ग को पुनः विकसित कर रहा है। चीन इस परियोजना के तहत सड़कों, रेल मार्गों, बंदरगाहों, पाइपलाइनों और अन्य बुनियादी सुविधाओं के माध्यम से मध्य एशिया से लेकर यूरोप और अफ्रीका तक कनेक्टिविटी तैयार कर रहा है।

ये भी पढ़ें: Andhra Pradesh: 14 दिन के न्यायिक हिरासत में भेजे गए चंद्रबाबू नायडू, पूर्व CM पर है घोटाले का आरोप