• Sat. Jan 28th, 2023

राजस्थान में खुदाई के दौरान निकली हनुमान जी की प्राचीन मूर्ति

Nov 30, 2022 ,

अगर हम बात करे प्राचीन नगरी की तो पुष्कर शहर का नाम जरूर आता है। ऐसी मान्याता है कि पुष्कर में परम पिता ब्रह्मा ने तपस्या की थी। राजस्थान के पुष्कर शहर में अब तक बहुत सारे प्राचीन तत्वो की प्राप्ति हुई है। अभी के समय में रिहायशी मकान की खुदाई मे सैंड स्टोन से बनी मूर्ति प्राप्त हुई है। खुदाई के दौरान मूर्ति थोड़ी क्षति ग्रस्त हो गई है। हम आपको याद दिला दे पहले भी इस जगह से बहुत सारा मंदिर के अवशेष प्राप्त हो चूका हैं। मकान के मालिक का कहना है की ये मकान 100 साल पुराना है अभी तो मालिक के पास ही पुराने अवशेष तथा मूर्ति रखी गई है। भारत में हर साल कही ना कही सनातन संस्कृति की अवशेष मिलते रहते है। अभी राजस्थान के पुष्कर शहर मे हनुमान जी के मूर्ति मिली है। ब्रह्माजी के मंदिर के व्यस्थापक और भू अभिलेख निरीक्षक अरुण पाराशर ने बताया कि उनके मकान में पानी का हौज बनाने की लिए खुदाई का काम चल रहा था। इसी दौरान लगभग 6 फीट नीचे हनुमान जी का प्राचीनतम मूर्ति मिली है तथा एक गोल गुम्बदनुमा पत्थर और दीपक निकला है यह बात अभी स्पष्ट नही है कि मूर्ति कितने वर्षो पुरानी है। अनुमानतः लोगो का मानना है कि औरंगजेब ने अपने शासन काल में बहुत सारे मंदिरों का विध्वंस किया था। इसके आसपास केशव राज का मंदिर है जिसका मुगलो द्वारा विध्वंस करवाया गया था पुष्कर शहर मे इसके पहले भी कई बार मूर्तिया और विशेष कर मंदिरों का अवशेष मिले हैं। परम पिता ब्रम्हा जी के द्वारा यहाँ लम्बे समय तक तापस्या किया था यहाँ तो देवताओ की भूमि भी है खासकर सवित्रि माता के मंदिर में बहुत सारे प्राचीन मूर्ति मिले थे। प्राचीन सभ्यता के बारे में जानकारी हमे अवशेषों के द्वारा ही होता है एक बार फिर कुछ पुराने तत्वो को जानने का मौका मिला है।

रिपोर्ट: वंशिका सिंह