• Sat. Jun 22nd, 2024

आखिर कौन है करौली बाबा?

आजकल यूपी के करौली बाबा काफी चर्चे मे है। हम आपको बता दे इस बाबा का नाम संतोष सिंह भदौरिया है और ये बाबा करौली बाबा के नाम से मशहुर है। आजकल ये बाबा सुर्खियों मे इसलिए है क्योकि पहले भी उनपर बहुत सारे अपराध के केस है और आजकल तो विवादो से घिरे हुए हैं बहुत सारे लोग अलग अलग दावे कर रहे है। नोएडा के रहने वाले एक डॉ ने करौली बाबा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करावाई है उसके बाद इन बाबा ने एक वीडियो जारी करते हुए अपनी सफाई पेश की है। उनका कहना है की सपा की सरकार के समय के कुछ अधिकारी और IAS ने मिलकर साजिश की और मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई। यह अधिकारी अखिलेश और मुलायम दोनों सरकारों मे रहे है।
आज की तारीख में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के बाद करौली बाबा ही सुर्खियों मे है। करौली बाबा के एक भक्त ने उनपर बाउंसरो से पिटवाने का आरोप लगा दिया है। हम आपको बता दे पहले संतोष सिंह भादौरिया ने बहुत ही तंगी से अपना जीवन व्यतीत किया है। वे किसान थे। संतोष सिंह भदौरिया मूल रूप से उन्नाव के बारह सगवर के रहने वाले है। इन्होंने अपनी पहली पत्नी को अशुभ समझ कर छोड़ दिया और दूसरा विवाह किया। एक समय था जब ये किसान नेता बनने के सपने देखते थे और आज के समय में करौली बाबा का साम्राज्य 14 एकड़ में फैला हुआ है। इन्होंने बहुत ही फिल्मी जीवन व्यतीत किया है। किसान आंदोलन के समय करौली बाबा की किस्मत चमक गयी जब पुरे देश में किसान आंदोलन अपने चरम पर था जो की महेंद्र सिंह टिकैत के नेतृत्व मे हो रहा था उस समय कानपुर में तगड़े किसान नेता संतराम सिंह का मर्डर हो गया उसके बाद महेंद्र सिंह टिकैत ने इन्हे कानपुर के सरसेल क्षेत्र की पूरी जिम्मेदारी दी। तब करौली बाबा की किस्मत पलट गई और तब से ही ये बाबा पुलिस से भिड़ने लगे।
अब बाबा नये नये दावे कर रहे हैं कानपुर के करौली बाबा ने कहा कि मे अतिक अहमद के शुटरो को ढूढने मे भी उतर प्रदेश पुलिस की मदद कर सकता हूँ इसके लिए पुलिस को मेरे आश्रम में मेरे साथ अनुष्ठान करना होगा।
इसके अलावा बाबा ने कहा कि मै भारत-पाक़िस्तान के रिश्ते को सुलझा सकता हूँ। मै दावे के साथ कहता हूँ कोरोना के समय मेरे आश्रम में आने वालो मे से एक कि भी मृत्यु नही हुई है। करौली बाबा ने कहा सनातन क्यो सुविधा मे नही रह सकता है बिल्कुल रहेगा मै रहता हूँ और आगे भी रहुंगा।
करौली बाबा का अपना शब्द है ओम शिव बैलेंस, बाबा ने कहा किसी को इससे क्या दिक्कत है यह मेरा शब्द है और इसे बोलने से चीजे बैलेंस मे रहती हैं।