• Wed. Dec 1st, 2021

18 नवंबर को चेन्नई में फिर भारी बारिश का अलर्ट।

चेन्नई और उसके आसपास के जिलों को 18 नवंबर को बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है। क्षेत्र अभी भी एक सप्ताह पहले हुई दो भारी बारिश से सामान्य स्थिति में लौटने के लिए संघर्ष कर रहा है। शुक्रवार से शहर को बारिश से राहत मिली है।सोमवार से दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और उससे सटे उत्तरी अंडमान सागर पर कम दबाव अब बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी के ऊपर बना हुआ है। जिससे चक्रवात औसत समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है।स्टालिन ने मंगलवार को बारिश और बाद में बाढ़ के कारण सड़कों और नालों में बुनियादी ढांचे को हुए नुकसान की मरम्मत के लिए 300 करोड़ रुपये की घोषणा की। सहकारिता मंत्री आई पेरियासामी ने भी डेल्टा जिलों में फसलों को हुए नुकसान पर एक रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी। जिसके बाद स्टालिन ने पूरी तरह से क्षतिग्रस्त फसलों के लिए 20,000 रुपये प्रति हेक्टेयर के मुआवजे की घोषणा की।इस साल चेन्नई और तमिलनाडु राज्य में अधिक बारिश हुई है। 6 से 7 नवंबर के बीच रात भर चेन्नई में 210 मिमी बारिश दर्ज की गई। 12 नवंबर को औसत वर्षा 60.6 मिमी थी। कन्याकुमारी जिले में 1 अक्टूबर से 15 नवंबर तक 83.96 सेंटीमीटर अधिकतम बारिश दर्ज की गई है।पिछले 10 वर्षों में बाढ़ को कम करने के लिए संतोषजनक कार्य नहीं करने के लिए पिछली अन्नाद्रमुक सरकार को दोषी ठहराया है।

सतीश कुमार