• Fri. Jul 12th, 2024

600 वर्ग किलोमीटर इलाके में बाढ़ से हुई मुसीबत

Jun 8, 2023 ABUZAR

एक साल से भी ज़्यादा समय से चल रहे रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine War) की वजह से अब तक यूक्रेन में भीषण तबाही मच चुकी है। 24 फरवरी, 2022 को शुरू हुए इस युद्ध का अंत कब होगा, इस बारे में कोई कुछ नहीं बता सकता है । जिस युद्ध को रूस कुछ दिन में ही जीत लेना चाहता था, उसे चलते हुए 15 महीने से भी ज़्यादा समय बीत गया है।

लगातार मिल रहे इंटरनेशनल सपोर्ट की वजह से रूस की शक्तिशाली आर्मी के सामने यूक्रेन की आर्मी अभी भी डटी होने वाली है। पर रूस भी लगातार हमले कर रहा है। इस जंग की वजह से यूक्रेन को जान-माल का भारी नुकसान हो चुका है। हाल ही में इस युद्ध के चलते एक बार फिर यूक्रेन को भारी नुकसान हुआ और इसका असर कई गांवों पर पड़ा हुआ है।

रूस ने दो दिन पहले ही हमले में यूक्रेन के काखोवका बांध (Kakhovka Dam) को उड़ा दिया है। यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेन्स्की (Volodymyr Zelenskyy) ने भी इस बात की पुष्टि कर चुकी है। काखोवका बांध यूक्रेन का सबसे बड़ा बांध था। यह बांध 30 मीटर लंबा और 3.2 किलोमीटर इलाके में फैल गया था।

इस बांध से ही क्रीमिया (Crimea) और जपोरीजिया (Japorijiya) न्यूक्लियर प्लांट में पानी पहुंचाया जाता रहा है। ऐसे में इस बांध के तबाह होने से यूक्रेन में कई गांवों में बाढ़ से हाहाकार मचा दिया है।

काखोवका बांध के तबाह होने से यूक्रेन के 00 वर्ग किलोमीटर इलाके में बाढ़ आ चुकी है। बाढ़ का असर यूक्रेन के कई गांवों पर पड़ा है। इस भीषण बाढ़ की वजह से हज़ारों लोगों को अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित जगहों पर जाना पड़ गया है। लोग सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए नांवों का इस्तेमाल किया जा रहा है।