• Tue. Jul 16th, 2024

यूक्रेन में कही अहम बात

Jun 10, 2023 ABUZAR ,

15 महीने से ज़्यादा समय से चल रहे रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia-Ukraine War) में तीन दिन पहले कुछ ऐसा हुआ है जिसके बारे को लेकर यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेन्स्की (Volodymyr Zelenskyy) को पिछले काफी समय से अंदेशा हो जाता था। रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के आदेश पर 24 फरवरी, 2022 को यूक्रेन पर कब्ज़ा करने के इरादे से रुसी आर्मी ने यूक्रेन में घुसपैठ करते हुए हमला कर दिया है। तब से यह युद्ध जारी है और इस वजह से यूक्रेन में अब तक भीषण तबाही मच चुकी है। पर तीन दिन पहले रुसी हमले की वजह से यूक्रेन का सबसे बड़ा काखोवका बांध (Kakhovka Dam) तबाह हो गया है। इसके तबाह होने से काफी ज़्यादा मात्रा में पानी ज़मीन पर आ गया और आस-पास के इलाकों में घुस चुका है। इससे आस-पास बसे कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। बाढ़ की वजह से जान-माल का नुकसान भी हो जाता है।

अब तक 8 लोगों की हुई मौत

काखोवका बांध के तबाह होने से आस-पास के गांवों में काफी ज़्यादा पानी घुस गया है। रिपोर्ट के अनुसार इस बाढ़ की वजह से साउथ यूक्रेन में अगले 10 दिन तक पानी का लेवल बढ़ना शुरू किया जाता है। एक ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार इस बाढ़ की वजह से अब तक 8 लोगों की मौत हो गई है।

अब तक करीब 13 लोग हो गए लापता

यूक्रेन में काखोवका बांध के आस-पास के इलाकों में बाढ़ की वजह से अब तक करीब 13 लोग लापता हो चुके हैं।

रेस्क्यू ऑपेरशन हो जाता जारी

बाढ़ के बाद से ही बाढ़ प्रभावित इलाकों में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी हो चुकी है। रेस्क्यू ऑपरेशन के तहत लोगों को बचाने के साथ ही उन्हें सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का काम हो रहा जाए।

हज़ारों लोगों को छोड़ना पड़ा अपना घर

बाढ़ की वजह से कई लोगों के घरों में पानी घुस चुका है। इससे उन लोगों के घरों को नुकसान भी पहुंच गया है। बाढ़ की वजह से अब तक प्रभावित इलाकों से हज़ारों लोगों को अपनी जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों पर जाना बड़ा है। अभी भी लोगों के सुरक्षित स्थानों पर जाने की प्रोसेस जारी रह जाता है ।