• Tue. Jul 16th, 2024

मन की बात में प्रधानमंत्री मोदी ने किया इमरजेंसी का जिक्र

Jun 18, 2023 ABUZAR

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अपने मासिक रेडियो शो ‘मन की बात’ के 102वें संस्करण को संबोधित किया था। मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आमतौर पर ‘मन की बात’ हर महीने के आखिरी रविवार को आती है। लेकिन इस बार यह एक हफ्ते पहले हो रही है. आप सभी जानते हैं, मैं अगले हफ्ते अमेरिका में रहूंगा।

पीएम मोदी ने कहा कि अभी दो-तीन दिन पहले हमने देखा कि देश के पश्चिमी हिस्से में कितना बड़ा चक्रवात आ गया था। तेज हवाएं, भारी बारिश. कच्छ में चक्रवाती तूफान बिपरजॉय ने भारी तबाही मचा रखी है। लेकिन कच्छ के लोगों ने जिस साहस और तैयारी के साथ इतने खतरनाक चक्रवात का मुकाबला किया, वह भी उतना ही अभूतपूर्व माना जा रहा ह।

पीएम मोदी ने याद दिलाया इमरजेंसी का दौर
पीएम मोदी ने कहा कि ‘साथियों, भारत लोकतंत्र की जननी है। Mother of Democracy है. हम, अपने लोकतांत्रिक आदर्शों को सर्वोपरि मानते हैं, अपने संविधान को सर्वोपरि मानते हैं। इसलिए, हम 25 जून को भी कभी भुला नहीं सकते. यह वही दिन है जब हमारे देश पर इमरजेंसी थोपी गई हुई थी। यह भारत के इतिहास का काला दौर था. लाखों लोगों ने इमरजेंसी का पूरी ताकत से विरोध किया था. लोकतंत्र के समर्थकों पर उस दौरान इतना अत्याचार किया गया। इतनी यातनाएं दी गईं कि आज भी, मन, सिहर उठता है.

साइक्लोन बिपरजॉय से जल्द उबर पाएगा भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कभी दो दशक पहले आए विनाशकारी भूकंप के बाद कच्छ को कभी न उबर पाने वाला कहा जाता था। आज वही जिला देश के सबसे तेजी से विकास करने वाले जिलों में से एक है। मुझे विश्वास है कि कच्छ के लोग बिपरजॉय चक्रवात से हुई तबाही से तेजी से उभररेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि ‘साथियो, प्राकृतिक आपदाओं पर किसी का ज़ोर नहीं होता। लेकिन, बीते वर्षों में भारत ने आपदा प्रबंधन की जो ताकत विकसित की है, वो आज एक उदाहरण बन रही है।