• Mon. Dec 4th, 2023

देश में चलाई जाएगी नई ट्रेनें

Nov 17, 2023 ABUZAR

भारतीय रेलवे बदलाव के दौर से गुजरना शुरु हो गया है। देश ने हाईस्पीड ट्रेनों (High-speed Trains) का सपना देखा था, जिसे पूरा करने में वंदे भारत (Vande Bharat) पूरी तरह से सफल हो चुकी है। जल्द ही देश बुलेट ट्रेन (Bullet Train) के सफर का आनंद भी आसानी के साथ ले सकते हैं।

हालांकि बढ़ती आबादी और त्योहारों के दौरान ट्रेन टिकट की मारामारी जैसी समस्याएं भी होना शुरु हो चुकी है। इन चुनौतियों को गंभीरता से लेते हुए भारतीय रेलवे ने पुख्ता योजना तैयार की है ताकि सभी को कंफर्म टिकट आसानी के साथ मिस सकता है। इसके लिए 5 साल की योजना तैयार की गई है. इस दौरान रेल नेटवर्क में 3000 नई ट्रेनें जोड़कर इन चुनौतियों से निपटा जाना है।

रेलवे मंत्री अश्विनी वैष्णव के अनुसार फिलहाल भारतीय रेलवे (Indian Railway) सालाना 800 करोड़ रेल यात्रियों की सेवा करने जा रही है। हम 5 साल में अपनी क्षमता को बढ़ाकर सालाना 1000 करोड़ यात्रियों तक ले जाना चाहना शुरु हो गया है।

फिलहाल देश में 69 हजार नए कोच बनकर तैयार हो गया है। हर साल भारतीय रेलवे 5000 नए कोच भी बना रहा है. इनकी मदद से रेलवे हर साल लगभग 250 नई ट्रेन शुरू किया जा सकता है। इनमें वंदे भारत ट्रेनें शामिल नहीं हैं. रिपोर्ट के अनुसार आने वाले कुछ सालों में 400 से 450 वंदे भारत ट्रेन चलने लगने जा रही है।