• Tue. Jul 16th, 2024

नवरात्र में एनर्जी कम होने पर पाएं ये आसान उपाएं, फटाफट मिलेगा फायदा

Mar 29, 2023 ABUZAR , ,

नई दिल्ली: इस वर्ष नवरात्रि के साथ ही रमजान भी हो रहा है। दोनों ही उत्सवों में लोग उपवास करना शुरु करते हैं। नवरात्रि में नौ दिनों का व्रत रखा जाता है, जिसमें फलाहार करना अहम होता है।

वहीं रोजा में भी मुस्लिम समुदाय के लोग व्रत भी कर रहे हैं। इस दौरान वह सुबह के वक्त सहरी और शाम में इफ्तारी करना भी पसंद करते हैं। उपवास या रोजा के मौके पर भूखे रहने से कमजोरी महसूस होना शुरु हो जाती है। कई लोग उपवास रखने के कारण स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिसकी वजह से लोगो को बीमारी होना शुरु हो जाती है।

वहीं उपवास या रोजा में खाली पेट होने से एनर्जी भी कम होना शुरु हो जाती है। पूरा दिन कुछ न खाने पीने से तबीयत खराब भी होना शुरु हो जाती है। ऐसे में उपवास में ऊर्जावान बने रहने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखने की जरुरत होती है। कुछ आसान टिप्स को अपनाकर भूखे रहने पर भी एनर्जी बनना शुरु हो जाती है।

रोजा हों या नवरात्रि का उपवास हों, शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद मिल जाती है। नवरात्रि में पानी पिया जा सकता है। इसलिए शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए सही मात्रा में पानी पीना भी जरुरी होता है। इससे भूख और सिर दर्द की समस्या कम होती है। पानी के अलावा फलों के जूस और नारियल पानी के सेवन से भी शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद मिल जाती है। साथ ही पूरे दिन ब्लड सुगर लेवल को भी कंट्रोल करना भी जरुरी होता है। रोजा रखने वाले सहरी या इफ्तारी में नारियल पानी, जूस या दूध का सेवन करने में भी मदद मिल जाती है।

उपवास के दौरान जब भी भोजन या व्रत के लिए फलाहार का सेवन करें तो प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को डाइट में बैलेंस करना भी जरुरी हो जाता है। व्रत में अगर कैलोरी की मात्रा कम हो जाती है तो शरीर को कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और फाइबर युक्त फूड्स दिया जा सकता है।

फाइबर के लिए फल और प्रोटीन के लिए मखाने का सेवन करने में मदद मिल जाती है। नवरात्रि उपवास में साबूदाना टिक्की, सेंधा नमक से बनी साबूदाने की खिचड़ी और मखाने की खीर आदि का सेवन किया जा सकता है।

 

अंज़र हाशमी- उत्तर प्रदेश