• Mon. Jul 15th, 2024

लिंक्डइन पर नौकरी के नाम पर हो रही ठगी, रहें सतर्क

लिंक्डइन नौकरी पेशा लोगों के लिए नए अवसर तलाशने और बड़े-बड़े लोगों से जुड़ने का एक पसंदीदा स्थान है। कई बार कंपनियां यहीं से आपका प्रोफाइल उठाकर आपको नौकरी देती हैं। लिंक्डइन एक तरह से पेशेवर मंच है। हालांकि इस बात का फायदा साइबर ठग उठा रहे हैं। लिंक्डइन पर कई साइबर ठगों के गिरोह सक्रिय हैं, यह गिरोह लोगों को फर्जी नौकरी का झांसा देकर उन्हें चूना लगा रहे हैं। हाल ही में जारी हुई एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है।

नोर्डलेयर की ओर से जारी किए गए प्रतिवेदन के अनुसार, दुनियाभर में इस साल 56 फ़ीसदी व्यवसायों को लिंक्डइन पर कम से कम एक घोटाले का तो सामना करना ही पड़ा है। प्रतिवेदन में नकली नौकरी की पेशकश को सबसे आम घोटाला बताया गया है। तकरीबन 48 फ़ीसदी लोगों के साथ फर्जी नौकरी के नाम पर ठगी हुई है। लिंक्डइन पर हर 1 सेकेंड में 117 नौकरी के आवेदन भेजे जाते हैं। इतनी बड़ी संख्या में नौकरी की मारामारी का फायदा यह गिरोह उठा रहा है।

कैसे कार्य करते हैं यह ठग?
लिंक्डइन पर ठगी करने वाले गिरोह नकली प्रोफाइल बनाते हैं। यह प्रोफाइल एकदम असली जैसी लगती है। वह इन प्रोफाइलों से नौकरी पोस्ट करते हैं। इन फर्जी नौकरियों के झांसे में आकर कई लोग अपने निजी आंकड़े उनके साथ साझा कर देते हैं, जिसका इस्तेमाल वह पैसे ऐंठने में करते हैं। कई दफा तो ठग पंजीकरण के नाम पर सामने से पैसा ही मांग लेते हैं। ऊंचे वेतन के लालच में लोग इसका भी शिकार बन जाते हैं। इसके अलावा संदेश देकर पहले बातचीत शुरू की जाती है और फिर फर्जी व असुरक्षित लिंक साझा कर दिया जाता है। प्रतिवेदन के अनुसार इन घोटालों से छोटी कंपनियों से ज्यादा बड़ी कंपनियां का नुकसान होता है। यानी बड़ी कंपनियों के नाम पर ज्यादा फर्जी नौकरियां निकाली जाती हैं।

इस घोटाले से कैसे बचें?

अगर आप नहीं चाहते कि लिंक्डइन पर आपके साथ भी ऐसी धोखाधड़ी हो तो आप कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें-

1. कंपनियां कभी भी किसी निजी ईमेल आईडी से आपको नौकरी का प्रस्ताव नहीं देंगी, इसलिए जब भी किसी पर्सनल ईमेल आईडी से आपको कोई मेल आए तो आप हमेशा उसे संदेह की नजर से ही देखें और बिना जांचे-परखे आगे की कार्रवाई ना करें।

2. नौकरी पाने के लिए कभी भी पैसा ना दें, क्योंकि ऐसी कोई भी कंपनी नहीं है जो आपको नौकरी देने के लिए पैसा मांगे।

3. नौकरी का प्रस्ताव देने वाले व्यक्ति या कंपनी को अपने निजी अकाउंट की जानकारी, यूपीआई का डेबिट या क्रेडिट कार्ड से संबंधित जानकारी कभी भी सांझा ना करें।

4. किसी भी कंपनी में आवेदन करने से पहले उसके बारे में गूगल पर सर्च जरूर कर लें, गूगल पर आपको कुछ ऐसी वेबसाइट मिल जाएंगी जहां कंपनियों की समीक्षा होती है।

आशीष ठाकुर – हिमाचल प्रदेश