• Tue. Jul 16th, 2024

क्या ₹75 के नए सिक्के से की जा सकती है खरीदारी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को नए संसद भवन के उद्घाटन के मौके पर, एक नए दुर्लभ सिक्के को जारी किया है। देश की आजादी के 75 साल के उपलक्ष्य में जारी, इस ₹75 के सिक्के को हर भारतीय लेना चाहता है। अगर आपका भी आकर्षण इस सिक्के की तरफ है, तो पहले इसकी खूबियों और खामियों के बारे में जान लीजिए। सबसे पहले तो आपको यह जानना बेहद जरूरी है कि, क्या आप इस सिक्के से सामान खरीद सकते हैं और उससे भी बड़ी बात यह है कि, आपको यह सिक्का कहां और कैसे मिलेगा।

सबसे पहले हम बात करते हैं कि यह सिक्का देखने में कैसा है और इसकी क्या खासियत है। वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलात विभाग ने बताया है कि यह सिक्का वजन में तकरीबन 35 ग्राम है और सिक्के के मुख्य भाग पर अशोक स्तंभ बना हुआ है। इसके बीच में ‘सत्यमेव जयते’ के चिह्न के साथ देवनागरी लिपि में ‘भारत’ भी लिखा हुआ है। साथ ही अंग्रेजी भाषा में ‘इंडिया’ भी लिखा है। सिक्के के एक तरफ नए बने संसद भवन की तस्वीर छपी हुई है, जिसके नीचे लिखा है ‘संसद संकुल’।

50 फ़ीसदी चांदी के इस्तेमाल से बना है
आपको यह जानकर काफी आश्चर्य होगा कि, यह सिक्का अपनी मूल कीमत से भी ज्यादा कीमती है। कहने का मतलब यह है कि, सिक्के को बनाने में जो लागत आई है उसका मूल्य ₹75 से काफ़ी ज्यादा है। यह सिक्का तकरीबन 44 मिलीमीटर का है और इसे बनाने में 50 फ़ीसदी चांदी का इस्तेमाल भी हुआ है। यानी अगर यह सिक्का 35 ग्राम का है, तो इसमें 17.5 ग्राम केवल चांदी ही है। बाकी में 40 फ़ीसदी कॉपर, 5 फ़ीसदी जिंक और 5 फ़ीसदी निकल का इस्तेमाल किया गया है।

क्या कर सकते हैं इसे खरीदारी में इस्तेमाल
आरबीआई और सरकार के द्वारा इस सिक्के को एक प्रतीक चिन्ह और स्मरण के तौर पर लागू किया गया है। ₹75 के सिक्के को (लीगल टेंडर) यानी वैध मुद्रा नहीं माना जा सकता। साथ ही इसका वास्तविक मूल्य इसके अंकित मूल्य से कहीं ज्यादा है। इसका इस्तेमाल सामान्य परिसंचरण में भी नहीं कर सकते हैं। इसलिए यह जाहिर सी बात है कि इस मुद्रा का इस्तेमाल आप सामान खरीदने या किसी भी लेन-देन में नहीं कर सकते हैं। फिलहाल तो सिक्योरिटी ऑफ प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL) केवल 5 मूल्य के सिक्के को ही चलन में स्वीकार करता है। इसमें ₹1, ₹2, ₹5, ₹10, ₹20 तक के सिक्के ही शामिल हैं। सरकार ने पहली बार 1964 में स्मृति चिन्ह के तौर पर सिक्का जारी किया था और तब से अब तक लगभग 150 सिक्के जारी किए जा चुके हैं।

सिक्के को कहाँ से खरीद सकते हैं
इस सिक्के को कोई भी भारतीय सरकारी वेबसाइट www.indiagovtmint.in से खरीद सकता है। इसके लिए पहले आपको आर्डर देना पड़ेगा और फिर उसके बाद आपके पंजीकृत पते पर इसको पहुंचा दिया जाएगा। फिलहाल सरकार ने अभी तक इसकी कीमत तय नहीं की है, लेकिन इसकी घोषणा जल्द ही की जा सकती है। बुलियन ज्वैलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश सिंघल के अनुसार, इस सिक्के की बाज़ार में कीमत तक़रीबन ₹1,300 हो सकती है।

आशीष ठाकुर – हिमाचल प्रदेश