• Tue. Jul 16th, 2024

जानिए वैज्ञानिकों का ठंडे तापमान से जवान होने का दावा

हर इंसान की यह तमन्ना होती है कि वह हमेशा जवान रहे, ऐसा कोई नहीं होगा जो चाहेगा की वह उम्र से पहले ही बूढा हो जाए। हाल ही में हुए इंसान की बढ़ती उम्र को लेकर अध्ययन के परिणाम जानकर आप हैरान हो जाएंगे। दरअसल, हमारे शरीर में कुछ प्रक्रियाएं होती हैं जो उम्र को बढ़ने से रोकने का कार्य करती हैं।

वैज्ञानिकों ने पाया है की ठंडा तापमान बूढा करने वाली प्रक्रिया को धीमा करता है, और जवान रखने वाली प्रक्रिया को तेज़ करता है। सामान्य तौर पर यह माना जाता है की कम तापमान सेहत के लिए अच्छा नहीं है, परंतु इस अध्ययन के अनुसार आयु लंबी करने में कम तापमान अपनी भूमिका निभा सकता है।

जर्मनी में कोलोन्ज यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक ने कीड़ों पर प्रयोग के आधार पर इसके पक्ष में एक और वजह का पता लगाया गया है। ठंडक से ऐसी प्रक्रियाएं उत्पन्न होती हैं जिससे ख़राब हो चुके प्रोटीन हमारी कोशिकाओं से निकल जाते हैं।

इसका अर्थ यह नहीं है की आप ठंड में बैठ जाएं और इससे आपका उपचार होगा। बल्कि, यह शोध यह बता सकता है की ठंडे तापमान से किस तरह की प्रक्रियाएं शुरू हो सकती हैं, जिसके बाद यह उपचार में सहायक हो सकता है। नेजर एजिंग में प्रकाशित किए गए इस अध्ययन के बारे में शोधकर्ताओं ने बताया है की बहुत ही कम तापमान बदलाव लाता है और वह लाभकारी हो सकता है।

शोधकर्ताओं ने प्रयोगशाला में सिनोरहैब्डाइटिस एलिजेन नाम के कीड़े और कुछ पाली हुई इंसानी कोशिकाओं पर परीक्षण किया, जिससे उन्हें यह पता चला की ठंडा तापमान कोशिकाओं से प्रोटीन के गुच्छों को हटाने में सहायता करता है। प्रोटीसम्स नाम की एक संरचना है जो इस प्रक्रिया में अपना अहम योगदान देती है। शोधकर्ताओं ने यह भी पाया है कि बेहतर जेनेटिक इंजीनियरिंग की सहायता से बिना ठंडक लाए भी ठंडक वाले परिणाम लाए जा सकते हैं।

ऐसे में उम्र बढ़ने और उससे संबंधित रोगों का उपचार होने की संभावना बढ़ गई है। ठंडा तापमान और उम्र बढ़ने के बारे में अभी भी बहुत कुछ खोजना बाकि है। गौरतलब है की इंसान के शरीर के अंदर का औसत तापमान, पिछले कुछ दशकों में कम होता नज़र आ रहा है। इसका भी हमारे जीवन पर प्रभाव पड़ सकता है।

आशीष ठाकुर – हिमाचल प्रदेश