• Tue. Jul 16th, 2024

उत्तरप्रदेश में नगर निगम की चुनावी तैयारियां जोरों पर

सपा के तरफ से अहम फैसले लिए गए है उतर प्रदेश के नगर निगम चुनाव में समाजवादी पार्टी ने अपने दाव खेलने शुरू कर दिये है सपा ने बुधवार को अपने मेयर प्रत्याशियों के नाम का एलान कर दिया इस बार जीत की रणनीति बनाई गई है अखिलेश यादव अभी भी कही न कही परिवारवाद मे ज्यादा भरोसा करते हैं आठ मेयर प्रत्याशियों के नाम चुने गए हैं जिनमे किसी ने किसी नेता के परिवार से ही सदस्यों का ही चयन किया गया है
गोरखपुर- काजल निषाद, लखनऊ- वंदना मिश्रा, शाहजहाँपुर- अर्चना वर्मा, मेरठ- सीमा प्रधान, आयोध्या- डॉ आशीष पांडेय, फिरोजाबाद- मशरूर फातिया, झांसी- रघुवीर चौधरी, प्रयागराज – अजय श्रीवास्तव

हम आपको बता दे सपा मेयर चुनाव में अपने दिग्गज नेताओं के परिवार पर ही भरोसा जताया है मेरठ से सपा ने चाहिते अतुल विधायक कि पत्नी सीमा विधायक को उम्मीदवार बनाया है जो की पूर्व में जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी हैं l
शाहजहाँपुर से पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा की बहु अर्चना वर्मा को उम्मीदवार चुना गया है ये कैंडिडेट भी पूर्व पंचायत अध्यक्ष रह चुकी हैं l
सपा ने 8 कैंडिडेट के नामों का ऐलान किया जिसमे जातीय और क्षेत्रीय कंबि नेशन बनाने का प्रयास किया है सपा ने इस बार नगर निगम के जातीय समीकरण का खास ख्याल रखते हुए कैंडिडेट उतारे है इस तरह सपा ने जिस समुदाय की अहम भूमिका है वहा उसी समुदाय के लोगों का चयन हुआ है अगर बात करे प्रयागराज की तो वहा कायस्थो की अधिकतम संख्या है तो वहा अजय श्रीवास्तव को टिकट दिया गया है (अध्यक्ष) सपा के द्वारा एक बार फिर कायस्थ दाव खेला गया है अजय श्रीवास्तव राष्ट्रीय महासचिव इंद्रजीत के साथ सपा मे प्रवेश किये थे और उनके सबसे करीबी माने जाते है वही गोरखपुर से निषाद समुदाय मे अहम भूमिका रखने वाली भोजपुरी अभिनेत्री काजल निषाद का चयन किया गया है जिनका लोगो से अत्यधिक जुडाव है अब देखना ये है कि सपा की रणनीति कितनी सफल होती है.