• Sat. Oct 1st, 2022

भारत को मिला 15 वां राष्ट्रपति, श्रीमती द्रौपदी मुर्मूर् बनी देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति।

हाल ही मे हुए राष्ट्रपति चुनाव मे श्रीमती द्रौपदी मुर्मू मे भारी बहुमत के साथ भारत की पंद्रवी राष्ट्रपति बनी और दूसरी भारतीय महिला राष्ट्रपति का गौरव भी अपने नाम किया। आदिवासी समुदाय की गौरवता को भी उन्होंने सहारा, 64 साल की द्रौपदी मुर्मूर् ने विपक्ष द्वारा खड़े किए गए नेता यशवंत सिन्हा को बारी बहुमत से हराया । श्रीमती द्रौपदी मुर्मु का जन्म 20 जून 1958 मयुर्बुनज जिलेजिले, ओडिशा मे हुआ। बचपन और जीवन व्यापं कष्टो से गुजरा फिर भी उन्होंने अपने दम कम से अपनी शिक्षा पुरी की। अपनी शिक्षा के उपरांत उन्होंने इरीगेशन और पॉवर डेपर्टमेंट मे जूनियर असिस्टेंट से अपना कार्यकाल शुरू किया । राष्ट्रपति बनने से पहले उन्होंने ओडिशा के गोवर्नेर का कार्यकाल भी संभाला इसी दौरान उन्होंने अपनी ज़िन्दगी मे कही उतार चड़ाव देखे, पति की मृत्यु, बेटों का उनसे बिछड़ना उनके लिए किसी सदमे से कम नहीं था। फिर ज़िंदगी से लड़ने की लगन और कड़ी मेहनत का ही ये फल है जो उन्हे इस पद की राह पर ले आई ।

सतीश कुमार