• Fri. Jul 12th, 2024

चीन-पाकिस्तान ने पकड़ी परमाणु रफ़्तार

एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन और पाकिस्तान ने भारत की तुलना में अपने परमाणु हथियारों का संग्रह ज्यादा बढ़ाया है। यह रिपोर्ट स्वीडन के एक थिंक टैंक सिपरी द्वारा प्रकाशित की गई है। इसमें कहा गया है कि पिछले कुछ सालों में चीन ने 60 और पाकिस्तान ने 5 परमाणु हथियार अपने संग्रह में शामिल किए हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने 4 परमाणु हथियार निर्मित किए हैं, जबकि चीन और पाकिस्तान ने अपने परमाणु हथियारों का संग्रह काफी बढ़ाया है। इस रिपोर्ट को स्वीडन के एक थिंक टैंक सिपरी ने जारी किया है। इसमें बताया गया है कि सिर्फ एशिया ही नहीं, पूरी दुनिया में सक्रिय परमाणु हथियारों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मानवता का सामना सबसे भयंकर समय से हो रहा है।

वर्तमान में दुनिया के पास 12,512 परमाणु हथियार हैं। इनमें से 9576 ऐसे हैं जो आक्रमण करने के लिए सक्रिय हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष 86 परमाणु हथियार अधिक हो गए हैं। चीन ने सबसे अधिक अपने परमाणु हथियारों की संख्या में वृद्धि की है। शीत युद्ध के समाप्त होने के पश्चात्, दुनिया में परमाणु हथियारों का संक्रमण हुआ था।

परमाणु हथियारों की दौड़ फिर से शुरू हो गई है। यह ट्रेंड पलट रहा है। सिपरी के अनुसार, रूस और अमेरिका के पास दुनिया के 90% परमाणु हथियार हैं। 12,512 हथियारों में से 3,844 को मिसाइलों और विमानों में स्थापित किया गया है।

रूस-यूक्रेन संघर्ष के बाद से परमाणु हथियारों के बारे में प्रकटता कम हो गई है, सिपरी का दावा है। 2021 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य राष्ट्रों ने परमाणु हथियारों को घटाने की प्रतिज्ञा की थी। उन्होंने कहा था कि परमाणु युद्ध कोई भी नहीं जीत सकता है। इन हथियारों का प्रयोग कभी नहीं होना चाहिए। हालांकि, अमेरिका और रूस ने 2000 परमाणु हथियारों को सतर्कता स्तर पर रखा हुआ है।

परमाणु हथियारों की दौड़ को रोकने के लिए अमेरिका और रूस ने नई स्टार्ट संधि पर हस्ताक्षर किए थे। लेकिन रूस ने यूक्रेन संघर्ष के एक साल बाद इसे मंजूरी से वंचित कर दिया था। नई स्टार्ट संधि अमेरिका और रूस के मध्य में सबसे पिछली परमाणु समझौता हुआ करती थी। इसके अंतर्गत, दोनों देशों में परमाणु हथियारों के प्रयोग की सूचना को साझा किया जाता था। रूस का कहना है कि अमेरिका रूस के परमाणु हथियारों की सूचना को गलत प्रयोग करता है।

अमन ठाकुर – हिमाचल प्रदेश