• Tue. Jul 16th, 2024

फ्रिज छोड़कर इस्तेमाल करें मटके का पानी, मिलेंगे सभी पोषक तत्व

तपती गर्मी में जब हमें प्यास लगती है तो हम घर में फ्रिज खोलकर ठंडा-ठंडा पानी पी लेते हैं। उस समय तो वह ठंडा पानी काफ़ी राहत देता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह हमारे शरीर के लिए कितना ख़तरनाक है? वहीं अगर आप फ्रिज के पानी के बजाए मटके का पानी पीते हैं, तो आपको इसके काफ़ी फायदे मिलेंगे।

करनाल में भी लोगों नें गर्मी से बचने के लिए मटके खरीदने शुरू कर दिए हैं, ताकि उसका ठंडा पानी पी सकें। लोग गर्मी से निजात पाने के लिए तरह-तरह के प्रयास कर रहे हैं, ताकि स्वास्थ्य पर गर्मी का बुरा असर न पड़े। स्वास्थ्य को देखते हुए काफी लोग मटका, सुराही का पानी पीना पसंद कर रहे हैं। सड़क किनारे मटका, सुराही आदि की दुकान पर लोग जाकर खरीदारी कर रहे हैं, जिससे मटका बेचने वाले दुकानदार भी काफ़ी खुश हैं।

मटके का पानी है काफ़ी फायदेमंद
जानकारों की मानें तो मटके का पानी विटामिन बी और सी का संपूर्ण स्रोत होता है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। साथ ही यह दिमाग और पाचन तंत्र के लिए काफ़ी फायदेमंद होता है। इससे शरीर की कई सारी बीमारियां दूर होती हैं। वहीं आजकल के RO, पानी को फिल्टर करने के दौरान उसके जरूरी पोषक तत्वों को भी खत्म कर देते हैं, जबकि मटका एक प्राकृतिक फिल्टर के रूप में काम करता है। मटके का पानी आयरन की कमी दूर करने में भी बेहद सक्षम है।

इस पानी से बनी रहती है पानी की गुणवत्ता
करनाल के ENT सर्जन अभिषेक बंसल का कहना है कि, गर्मियों में हम धूप में सफर करके आते हैं और घर में प्रवेश करते ही ठंडा पानी पीना पसंद करते हैं। लेकिन धूप और पसीने में आकर अगर हम एक दम से फ्रिज का पानी पी लेते हैं तो कई बार बुखार, गले में दर्द जैसी बीमारियां हमें घेर लेती हैं। इससे शरीर को काफी नुकसान पहुंचता है और लोग डॉक्टर के पास कई बार इस समस्या को लेकर जाते हैं। वहीं मटके का पानी पीने से इस तरह की बीमारियों के होने का खतरा न के बराबर होता है। डॉ. अभिषेक ने बताया कि मटके में पानी की गुणवत्ता पर कोई असर नहीं होता। मटके के पानी में सभी मिनरल्स मौजूद रहते हैं।

दोबारा बढ़ गया घड़े, सुराही का चलन
मटका खरीदने पहुंचे अजय कुमार ने बताया कि मटके का पानी पीना स्वास्थ्य के लिए काफ़ी लाभ दायक होता है। पहले जब फ्रिज कि सुविधा नहीं होती थी, तब सभी मटके का ही पानी पीते थे। स्वर्ण कौर ने बताया कि मटके का पानी न केवल ठंडा होता है, बल्कि शरीर को किसी तरह का नुकसान भी नहीं पहुंचाता। हम लोग मटके के पानी का ही प्रयोग करते हैं। वहीं, मटका विक्रेता मोनू ने बताया कि हम लोग पीढ़ी दर पीढ़ी से मटके, सुराही आदि बेचने का काम करते आ रहे हैं। मोनू नें कहा फ्रिज की बजाए घड़े का पानी ठंडा और ताजगी भरा रहता है। घड़े के पानी में कई गुणकारी तत्व होते है, जो शरीर को फायदा पहुंचाते हैं।

आशीष ठाकुर – हिमाचल प्रदेश