• Fri. Jul 12th, 2024

नोवा बांध टूटने से 42 हजार जिंदगी खतरे में

कीव/मॉस्को: यूक्रेन के रुसी अधिकार क्षेत्र में स्थित नोवा काखोवका बांध पर 6 जून को रूस-यूक्रेन जंग के दौरान हमला हुआ। इसके फूटने से 42 हजार लोगों की जान बाढ़ की वजह से संकट में है। दोनों देशों की सेनाएं अपने-अपने क्षेत्रों में बचाव कार्य कर रही हैं। परंतु, दोनों ही पक्षों ने इस हमले के पीछे एक-दूसरे को दोषी माना है।

डैम वॉरफेयर का मतलब है युद्ध के समय बांधों पर हमला करना। 85 साल पहले चीन और जापान के बीच हुए युद्ध में इसके कारण 1 लाख से ज्यादा चीनी लोगों की जान चली गई थी।

यूक्रेन के प्रधानमंत्री वोलोदिमीर जेलेंस्की ने बताया कि बांध के निकट के इलाके में पानी की कमी से हजारों लोग पीड़ित हैं। 30 स्थानों पर बाढ़ का कहर मचा हुआ है।

प्लास्टिक के बैग में अपनी चीजें भरकर लोग बचाव की ओर भाग रहे हैं। 10 हजार हेक्टेयर का क्षेत्रफल वाली फसल पानी में समा गई है। 2 हजार मकानों को बाढ़ ने निगला है।

यूक्रेन लंबे समय से रूस के खिलाफ बड़ा हमला करने की योजना बना रहा था। अमेरिका और पश्चिमी राष्ट्रों के प्रतिनिधि कहते हैं कि इसी क्रम में यूक्रेन ने पिछले हफ्ते से पश्चिमी डोनेटस्क और खरसोन में अपने हमलों को बढ़ा दिया है। कुछ स्थानों पर रूसी सेना को पीछे हटना पड़ा है।

1400 वर्ष पूर्व आरंभ हुआ डैम वॉरफेयर