• Thu. Jul 18th, 2024

जम्मू-कश्मीर के राजौरी और बरामूला में जारी है सुरक्षाबालों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़

पहले से ही जम्मू-कश्मीर के राजौरी में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ चल रही है, शनिवार को बारामूला में हुई एक अलग मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बारामूला के एसएसपी आमोद अशोक नागपुरे ने बताया कि उन्हें कुछ संदिग्ध गतिविधियों की सूचना मिली थी।

एसएसपी ने कहा कि जानकारी मिलने के बाद आतंकवादियों का पता लगाने के लिए एक घेरा बनाया गया और तलाशी अभियान चलाया गया जिसके दौरान हमारी ओर से गोलीबारी की गई और जवाबी फायरिंग में लश्कर का एक आतंकवादी मारा गया। मारे गए आतंकवादी की पहचान यारहोल बाबापोरा कुलगाम निवासी आबिद वानी के रूप में हुई है।

भारतीय सेना ने जानकारी देते हुए बताया कि राजौरी एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया है जबकि एक और के घायल होने की संभावना है। आतंकवादियों से एक एके56, चार मैगज़ीन, 56 राउंड बुलेट्स, मैगज़ीन के साथ 1×9mm पिस्टल, तीन ग्रेनेड बरामद किए गए हैं। सेना की कार्रवाई अभी भी जारी है। अधिकारियों ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि बरामूला और राजौरी दोनों इलाकों में कम से कम आठ से नौ आतंकवादी घिरे हुए हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा कि शनिवार देर रात 1.15 बजे दोनों और से गोलीबारी हुई और हमारा आतंकवादियों से संपर्क हुआ। कंडी वन क्षेत्र में शुक्रवार सुबह हुए आतंकी हमले में पांच भारतीय सैनिक शहीद हो गए और एक घायल हुआ। अधिकारियों ने कहा कि “तीन और सैनिक जो पहले घायल हुए थे, दुर्भाग्य से उनकी मृत्यु हो गई। जम्मू-कश्मीर के राजौरी में संयुक्त अभियान में पांच सैनिकों की जान चली गई है”।

शुक्रवार को शहीद हुए सैनिकों में एक राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन से थे, जबकि चार सैनिक 9 पैरा (विशेष बल) के कमांडो थे। सैनिकों की पहचान दार्जिलिंग के पैराट्रूपर सिद्धांत छेत्री, हिमाचल प्रदेश के सिरमौर के पैराट्रूपर प्रमोद नेगी, उत्तराखंड के गैरसैंण के लांस नायक रुचिन सिंह रावत, पालमपुर के नाइक अरविंद कुमार, और अखनूर के हवलदार नीलम सिंह के रूप में की है। 20 अप्रैल के हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों को पकड़ने की कोशिश कर रहे सेना के दस्ते का यह जवान हिस्सा थे।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि भारतीय सेना लगातार खुफ़िया-आधारित अभियान चला रही है उन आतंकवादियों के एक समूह का सफ़ाया करने के लिए जिन्होंने जम्मू क्षेत्र के भाटा धूरियन के तोता गली इलाके में सेना के एक ट्रक पर घात लगाकर हमला किया था। बयान में आगे कहा गया कि ‘राजौरी सेक्टर के कंडी वन में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में विशेष सूचना मिलने के बाद, 3 मई 2023 को संयुक्त अभियान की शुरुवात हुई। 5 मई 2023 को एक खोज करने वाले दल ने लगभग 7:30 बजे एक समूह के साथ संपर्क स्थापित किया। आतंकवादी एक गुफा में अच्छी तरह से घुसे हुए हैं। यह क्षेत्र चट्टानी और खड़ी चट्टानों वाला है।’

आशीष ठाकुर – हिमाचल प्रदेश