• Tue. Jun 22nd, 2021

शराब ठेकेदारों का आतंक: जनता की परेशानियों का जिम्मेदार कौन?

  • धार्मिक स्थलों, स्कूलों के सामने खुलने वाली दुकानों में सरकार व आबकारी अधिकारी मौन

जयपुर! विश्व प्रसिद्ध खोले के हनुमानजी मंदिर , दरगाह दरबार अली शाह बाबा व स्कूलों के सामने ही शराब की दुकानें खुलने जा रही है, जबकि नियमों में मन्दिर, मस्जिद, स्कूल के सामने शराब की दुकान या शराब का कारोबार करना सरकारी नियमो के विरुद्ध है। लेकिन सारे नियम ताक पर रखकर खोले के हनुमान मंदिर, धार्मिक स्थलों, स्कूलों के नजदीक आबकारी विभाग के अधिकारी सुनील भाटी जी ने अपने पद का दुरुपयोग कर शराब की दुकान को खोलने की पूर्ण अनुमति प्रदान कर दी। स्वीकृति प्रदान करते समय इन्होंने सभी देवस्थानों, दरगाह, स्कूलों को पूर्णरूप से अनदेखा भी कर दिया। आबकारी अधिकारी को जब इस शराब की दुकान के बारे में स्थानीय लोगो ओर मन्दिर कमेटी व दरगाह कमेटी ने लिखित रूप से खोले के हनुमानजी मन्दिर के सामने लहरिया होटल में खुलने वाली दुकान के बारे में लिख कर बन्द करवाने का प्रार्थना पत्र दिया उस पर आबकारी विभाग ने कोई कार्यवाही नही की। आला अधिकारी व सरकार को भी उक्त दुकान को बंद करवाने हेतु लिखित प्रार्थना पत्र दिया गया लेकिन कार्यवाही के नाम पर सरकार व आला अधिकारी भी मौन, अब जनता की सुनेगा कौन। जबकि शराब की दुकान जो खोले के हनुमानजी के सामने लहरिया होटल में खुलने जा रही है वह नियमानुसार नही है। खोले के हनुमानजी मन्दिर में हज़ारों की संख्या में श्रद्धालुओं का आना जाना रहता है। दरगाह में भी काफी तादात में लोगो का आना जाना होता है। क्या यह शराब की दुकान खुलने से यहां बनी हुई शांति भंग नही होगी? क्या आपराधिक मामले नही बढ़ेंगे? महिलाओ और बच्चियों के यहां से निकलना मुश्किल होगा। शराबियो द्वारा क्या यहां का माहौल खराब नही होगा? आये दिन श्रद्धालु अपनी श्रद्धा से मन्दिर जाएंगे ओर शराबी बड़ी संख्या में यहां जमा होकर शराब खरीदेंगे, सेवन करेंगे, लड़ाई झगड़े करेंगे एवम आने जाने वाली महिलाओं बच्चियों से आपराधिक मामले होने की सम्भावना रहेगी, लूट पाट होगी तथा माहौल खराब होगा लेकिन आबकारी अधिकारी व सरकार ने अनदेखा करके शराब की दुकान खुलवाने की परमिशन दे डाली, चुप्पी साध ली और शराबके ठेकेदारों और शराबखोरो के बढ़ते आतंक को ओर बढ़ावा दे डाला। पुनः सरकार व आबकारी विभाग मौन अब जनता की सुरक्षा का जिम्मेदार कौन?

-संजय सोनी, स्टेट हेड राजस्थान, Reporters24x7