• Sat. Jan 28th, 2023

कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने थामा TMC का हाथ

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की टीएमसी आए दिन बीजेपी और कांग्रेस को बड़े-बड़े झटके देते जा रही है। दरअसल पिछले कुछ दिन पहले ही बीजेपी को बड़ा झटका देकर टीएमसी में मुकुल रॉय को दोबारा शामिल करने के बाद आज टीएमसी ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। दरअसल भारत के पूर्व राष्ट्रपति और दिवंगत कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ दिया है। अभिजीत मुखर्जी ने कांग्रेस छोड़कर आज शाम चार बजे तृणमूल भवन में तृणमूल कांग्रेस का हाथ पकड़ लिया।
तृणमूल में अभिजीत मुखर्जी के सदस्यता लेने के वक्त उनके साथ लोकसभा में तृणमूल के संसदीय दल के नेता सुदीप दोपध्याय और वरिष्ठ मंत्री पार्थ चटर्जी मौजूद थे।
तृणमूल कांग्रेस में आने के पहले अभिजीत कांग्रेस पार्टी के ओर से 2012 से 2014 के बीच बंगाल के जंगीपुरा लोकसभा सीट से सांसद भी रह चुके हैं। हालांकि वह 2019 में वह इस सीट से चुनाव हार गए थे। 2019 में हुई हार के बाद अभिजीत मुखर्जी को पार्टी ने साइड लाइन कर दिया था। इसके बाद बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान भी अभिजीत ने कांग्रेस हाइकमान से अपील करते हुए कहा था कि वह बंगाल चुनाव में लेफ्ट के स्थान पर टीएमसी के साथ गठबंधन करे और चुनाव लड़े। हालांकि उन्होंने बाद में कहा था कि यह उनकी निजी राय थी।
इसके अलावा बंगाल चुनाव में मिली हार के बाद उन्होंने कहा था कि गठबंधन से अच्छा होता की कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ती। इससे कांग्रेस का वोट प्रतिशत भी अच्छा रहता। वहीं टीएमसी में शामिल होने के बाद अभिजीत की बहन शर्मिष्ठा मुखर्जी ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट कर SAD लिखा।
टीएमसी में शामिल होने के बाद अभिजीत बनर्जी ने कहा कि ममता बनर्जी के नेतृत्व में टीएमसी ने जिस तरह से बंगाल में भाजपा के सांप्रदायिक लहर को रोका है, मुझे विश्वाश है कि वह दूसरों के सहयोग से पूरे देश में भी ऐसा करने में कामयाब होंगी।
सौरव कुमार