• Wed. Dec 1st, 2021

राजस्थान के बारे में कुछ रोचक तथ्य, जिसे हर व्यक्ति को जानना जरूरी

राजस्थान के बारे में वे बातें जो बाहरी लोगों को या तो नहीं पता या ग़लत पता है आइए हम आपको बताते हैं राजस्थान से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

राजस्थानी लोगों को छोड़कर शेष दुनियां को लगता है कि राजस्थान में पानी नही है और यहां खून सस्ता पानी महंगा हैं…जबकी यहाँ सबसे शुद्धता वाला पानी जमीन में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है ।

राजस्थान के लोगों को पूरे विश्व में सबसे बड़े कंजूस कृपण समझा जाता है …जबकि पूरे भारत के 95% बड़े उद्योगपति राजस्थान के हैं, राममंदिर के लिए सबसे ज्यादा धन राजस्थान से मिला है।

राजस्थान के लोगों के बारे में दुनियां समझती है ये प्याज और मिर्च के साथ रोटी खाने वाले लोग हैं …जबकि पूरे विश्व मे सर्वोत्तम और सबसे शुद्ध भोजन परम्परा राजस्थान की हैं यहां का बाजरा विश्व के सबसे पौष्टिक अनाज का खिताब लिये हुए हैं।

राजस्थानी लोगों को छोड़कर शेष दुनियां को लगता है कि राजस्थान के लोग छप्पर और झोपड़ियों में रहते हैं इन्हें पक्के मकानों की जानकारी कम हैं ..जबकि यहां के किले इमारतें और उनपर अद्भुत नक्कासी विश्व मे दूसरी जगह कहीं नही है.. यहां अजेय किले और हवेलियां हजारों वर्ष पुरानी है …राजस्थान में चीन की दीवार जैसी ही दूसरी उससे मजबूत दीवार भी है जिसे दुनिया में पहचान नहीं मिली।

अकेले राजस्थान के यहां की औरतों के पास का सोना इक्कठा किया जाए तो शेष भारत की औरतों से ज्यादा सोना होगा।

राजस्थान के जलवायु के बारे में दुनियां समझती है यहाँ बंजर भूमि और रेतीले टीले हैं जहां आंधियां चलती रहती है ….जबकि राजस्थान में कई झीलें झरने और अरावली पर्वतमाला के साथ रणथम्भौर पर्वतीय शिखर हैं जो विश्व के टॉप टूरिज्म पैलेस हैं, इसके अलावा राजस्थान में झीलों से निकला नमक शेष भारत में 80% नमक की आपूर्ति करता है जो 100%शुद्ध प्राकृतिक नमक है।


इसके अलावा भी बहुत सारी ऐसी बातें हैं जिन्हें दुनियां नही जानती और यह सब बॉलीवुड की वजह से राजस्थान का नकारात्मकता चरित्र गढ़ा गया जिसे दुनियाभर में सच समझा गया

राजस्थान में बहन को प्यार से ‘बाई’ कहा जाता है यहां चार बाईयां हुई जिन्हें हर राजस्थानी बाई कहकर ही सम्बोधित करते है।

मीरां बाई, करमा बाई, सुगना बाई, और नानी बाई, मीरां ने ईश्वर को प्रेम भक्ति से ऐसा वशीभूत किया कि ईश्वर को आना पड़ा
करमा बाई ने निष्ठा भक्ति से ईश्वर को ऐसा अभिभूत किया कि ईश्वर को करमा के हाथ से खाना पड़ा।

सुगना बाई ने राजस्थान की पीहर और ससुराल परम्परा का ऐसा अनूठा स्त्रीत्व भक्ति पालन किया कि ईश्वर को उनका उद्गार सुनना पड़ा और नानी बाई ने ईश्वर की ऐसी विश्वास भक्ति की की ईश्वर को उनके घर आना पड़ा
ये सब इसी युग में वर्तमान में हुआ जिनकी भक्ति आस्था और निष्ठा को राजस्थान के हर मंच से गया जाता है …नारी भक्ति का ऐसा उदाहरण शेष विश्व में और कहीं नही

यहां राजस्थान की बलुई मिट्टी पूनम की रात में कुंदन की तरह चमककर स्वर्ण का आभास कराती है इन्ही पहाड़ो की वजह से इसे ‘मरुधरा’ कहा जाता है
राजस्थान का इतिहास गर्व से लबरेज और यहां का जीवन सबसे शुद्ध हैं
कण कण वंदनीय और गांव गांव एक इतिहास में दर्ज कहानियों पर खड़ा है।

(सभी फोटो सांकेतिक है)

-निरंजन चौधरी, जयपुर।