• Mon. Jan 30th, 2023

साइबर ठगों ने सिम वेरिफिकेशन के नाम पर 11 रूपये मांगे और फिर किए 6 लाख रूपये अकाउंट से पार

11 रूपये के चक्कर में बैंक अकाउंट से उड़ाए 6 लाख रूपये, जी हां बिल्कुल सही पढ़ा आपने – महज 11 रूपये के चक्कर में 6 लाख रूपये की ठगी हुई डॉक्टर के साथ

क्या है पूरा मामला:
सिम वेरिफिकेशन का झांसा देते हुए ऐसी ठगी का मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप सब भी हैरान हो जाएंगे। बताया जा रहा है कि ये मामला मध्यप्रदेश के रीवा के सामन क्षेत्र का है। साइबर ठगों का शिकार बनी अम्बिका प्रसाद द्विवेदी बतां दे कि इस वारदात को 18 जुलाई को अंजाम दिया गया है। सिम वेरिफिकेशन के बहाने 11 रूपये अकाउंट में नेट बैंकिंग से मांगे जिसके बाद 6 लाख रूपये की लगी चपट

सिम कराए वेरिफाइ नहीं तो हो जाएगी बंद:
साईबर ठगों की चलाकी ठगों ने फोन कर ये डरावा दिया कि आपको सिम वेरिफिकेशन कराए काफी समय हो चुका है। इसे अभी वेरिफाइ करा लीजीए नहीं तो आपकी सिम बंद हो जाएगी सिम वेरिफिकेशन के बहाने ठगों ने अपने अकाउंट में 11 रूपये ट्रांसफर करवाये ट्रांसफर के कुछ समय के बाद तो लगातार बैंक खाते से पैसे कटने के 15 मेसेज उनके फोन पर आ गए मेसेज से इस बात का पता चला कि अकाउंट से 6 लाख 423 रूपये की राशी को अकाउंट से निकाल लिया गया है।

बैंक जाकर के दी जानकारी:
इस बात की जानकारी मिलते ही डॉक्टर ने बैंक जाकर के पूरे मामले की जानकारी बैंक में दी जिसके बाद इस पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी गई है।

पुलिस द्वारा शुरू हुई पड़ताल:
इस पूरी घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस जांच पड़ताल में जुट चुकी है, डॉक्टर को ठगी का कॉल झारखंड के जामताड़ा से किया गया था उसी स्थान से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस मामले की जांच करना शुरू कर दिया है। ठगी करने वालों का पता पुलिस द्वारा पता लगया जा चुका है। पुलिस को उन ठगों की स्कॉरपियो कार भी मिली

पकड़े गए साइबर ठग:

पुलिस ने इन साइबर ठगों के बारे में पता लगा लिया है ना सिर्फ इस झारखंड की पुलिस और भी राज्य की पुलिस इन ठगों के पीछे पड़ी थी जिसके कारण उनकी लोकेशन बार बार चेंज हो रही थी लेकिन मामले में पुलिस ने तेजी दिखाते हुए एक जगह पर छापा मारा जहां ठगो की स्कॉर्पियों मिली कार की तलाशी में पुलिस को एक मोबाइल फोन मिला उसी फोन की मदद से डॉक्टर को कॉल किया गया था उसी फोन की मदद से पुलिस ने ठगों की जांच करना चालू कर दिया है। और सिम की बदौलत पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ लिया है।

सार्थक अरोड़ा (स्टेट हेड दिल्ली)