• Thu. Dec 8th, 2022

सरकारी बैंक के शेयर खरीदने को निवेशक हुआ बेताब, आरबीआई के फैसला से निवेशकों को हुआ फायदा

नई दिल्ली: बीते मंगलवार के दिन देखा जाए तो भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने जानकारी दिया है कि सरकारी क्षेत्र के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को लेकर त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) प्रक्रिया की निगरानी सूची के साथबाहर करने का फैसला हुआ है। ये जानकारी मिलने के बाद बुधवार को सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया वाले शेयर खरीदने खरीदने के लिए निवेशकों में होड़ मचने लगी है इस वजह से इंट्रा-डे के समय शेयर 15 फीसदी तक चढ़ गया और निवेशकों ने खूब पैसे इक्टठे कर लिया है।

कितना है शेयर वाला भाव

रॉकेट की तरह तेज़ीऔर फिर मुनाफावसूली के साथ बुधवार को शेयर का भाव 21.70 रुपये पर पहुंचने के बाद रूक गया था। एक दिन पहले देखा जाए तो इसके मुकाबले शेयर में 6.63% की तेजी हो चुकी है। हालांकि, कारोबार के दौरान शेयर की कीमत 23 रुपये से ज्यादा हो चुका था। जानकारी के मुताबिक पिछले साल 30 सितंबर को शेयर वाला भाव 25 रुपये के पार बंद हो चुका था, जो 52 वीक का हाई लेवल बनना शुरू हो गया है।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में देखा जाए तो आरबीआई ने जून, 2017 में पीसीए के दायरे के साथ रखने का फैसला कर लिया था। शुद्ध गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) के ऊंचे स्तर और परिसंपत्तियों पर मिलने जा रहे कम रिटर्न होने से बैंक को पीसीए निगरानी सूची में पहुंच गया था। पीसीए दायरे में रखे जाने के साथ वह बैंक खुलकर कर्ज देने से कई तरह से रोकना शुरू हो जाता है और उसे कई तरह की बंदिशों में मजबूरी के साथ काम करना होता है।

अंज़र हाशमी, उत्तर प्रदेश