• Mon. Nov 28th, 2022

Goa Gangrape Case: रेप केस पर ब्यान देकर बुरे फसे प्रमोद सावंत, विपक्ष ने कहा ज़िम्मेदारी नहीं संभाल सकते तो इस्तीफा दें

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने एक मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है। बुधवार को कहा प्रमोद सावंत ने एसा ब्यान दे डाला है।

क्या है पूरा मामला:

गोवा में समुद्र तट पर नाबालिक दो लड़कियों के साथ रेप का मामला सामने आया है। जहां आरोपीयों में से एक सरकारी कर्मचारी को सेवा से निलंबित करने का आदेश दिया गया इस पूरी घटना को अंजाम 24 जुलाई को दिया गया था। बताया जा रहा है कि इस ये घटना गोवा के लोकप्रिय समुद्री तट कोलवा पर घटित हुई जिसके बाद गोआ के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने इसी मामले को लेकर के एक विशादित बयान दे डाला है।

प्रमोद सावंत का ब्यान:

इस पूरे मामले को लेकर के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने ब्यान दिया कि बच्चों के माता पिता को उन पर ध्यान देना चाहिए के वह कहा जा रहें है। इस ब्यान को दे मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को विपक्ष द्वारा घेरा जा रहा है।

अपने इस ब्यान के चलते प्रमोद सावंत खतरे में नज़र आ रहे है। इस पर विपक्ष उन पर आगबबुला हो उठे है। विपक्ष ने कहा कि राज्य के नागरिकों की सुरुक्षा की ज़िम्मेदारी पुलिस और सरकार की है। अगर वो ऐसा नहीं कर सकते तो उन्हें मुख्यमंत्री के पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं।

पूरे मामले में चार आरोपी गिरफ्तार:

इस पूरे मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि इस बीच पर पार्टी करने 10 लोग गए थे जिसमें से 6 वापसी आ गए थे साथ ही पूरी रात उस बीच पर दो लड़किया वहीं थी उनके साथ मौजूद दो लड़को के साथ मारपीट कर उन दो नाबालिक लड़कियों का रेप कर दिया गया।

सार्थक अरोड़ा (स्टेट हेड दिल्ली)