• Sat. Jan 28th, 2023

चमत्कार या अंधविश्वास: सच्चाई क्या है बाबा के दरबार की

आजकल देश के युवा कथावाचक श्री धीरेंद् कृष्ण शास्त्री जी सुर्खियों मे है। दरअसल धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी ने 18 जनवरी को रायपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर धर्मांतरण को लेकर बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि जहाँ जहाँ धर्मांतरण हो रहा है वहा मैं राम कथा सुनाने जा रहा हूँ धर्मांतरण रोकने की ठानी है हमने। अब तक बहुत से लोगो को धर्म में वापसी भी करा चुके है। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी को पुरे भारत में बागेश्वर वाले के नाम से जाना जाता हैं। बागेश्वर धाम सरकार की अंधविश्वास उन्मूलन समिति की तरफ से चुनौती दी गई थी इसपर देश में बहुत से विवाद और हंगामे हुए हिंदू संगठनो ने अंधविश्वास उन्मूलन समिति के प्रमुख श्याम का पुतला भी जलाया था। वही महाराज जी ने रायपुर में लगने वाले दो दिवसीय (20/1/23 से 21/1/23 ) दिव्य दरबार मे श्याम मानव को आमन्त्रित किया तथा किराये का खर्चा खुद उठाने और चुनौती स्वीकार करने की बात कही है।
धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी महाराज के कथाओ मे लाखों करोडो लोग शामिल होते है। आज के डेट मे हिंदुस्तान के सबसे महंगे कथावाचक धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ही है। महाराज जी हमेशा से सनातन धर्म की रक्षा हेतु कार्य करते रहे है। बहुत पहले से ही बागेश्वर धाम सरकार पर बहुत से आरोप लगया गया है। दिव्य दरबार में भक्तो के मन की बात बताने पर। भूत पिशाच से मुक्ति दिलाने पर उन्हे हमेशा ही लोग गलत बताते रहे है। जब भी धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी मीडिया के सामने आये है उन्होंने बताया है कोई चमत्कार नही है सब बालाजी की कृपा है। सन्यासी बाबा की कृपा है।
भक्तो के मन की बात बता देते है कई बार मीडिया वालो को भी अर्जी लगाकर या बिना अर्जी लगाए उनकी मन की बाते बता देते हैं। और फिर कहते है बागेश्वर बाला जी महाराज की कृपा है।

रिपोर्ट:वंशिका सिंह