• Sat. Jan 28th, 2023

सिध्दू मूसेवाला मर्डर केस: 7 महीने बाद परिवार को सौपी गयी थार

सिध्दू मूसेवाला मर्डर केस के 7 महीने बाद उनके परिवार को उनकी थार और पिस्टल सौप दी गई है। सिध्दू मूसेवाला की हत्या जिस थार में हुई थी। कोर्ट ने आदेश देते हुए कहा कि उनकी थार और पिस्टल को उनके परिवार को दे दिया गया है पर उन्हे उपयोग करने पर रोक लगा दिया है। इसके साथ एक आदेश आया है कि इसमें कोई बदलाव नही किया जायेगा। इसी थार में सवार होकर सिध्दू मुसेवाला कही जा रहे थे तभी मनसा गाँव मे उनके उपर अटैक किया गया था जहा मौके पर ही पंजाबी सिंगर ने दम तोड़ दिया था इस केस में पुलिस ने 24 लोगों लोगों को आरोपी बताया था। इस मर्डर केस के मास्टर माइंड गोल्डी बराड बताया जाता है।
बलकौर सिंह ने कहा कि अपने बल पर सिध्दू मुसेवाला ने यह मुकाम हासिल किया था वह सादगी से जीवन जीता था उसका सपना था की गाँव मुसा को शहर बना देना है पंजाब में लगातार माहौल खराब हो रहा है कत्ल फिरौती जैसे काम हो रहे है। सरकार सबकी तो सिक्योर्टी तो नही कर सकती इसलिए चाहिए की आम लोगो के असलहा लाइसेंस दिया जाय ताकि जरूरत पड़ने पर आदमी स्वम अपना सुरक्षा कर सके।

जो अपराधी पकड़े गए है इस केस मे उनमे से एक का पता लाॅरेंश बिश्नोई के रूप में तथा बाकी के दो आरोपी हरियाणा के बताये जा रहे है पिछले दिनों देर रात तक मूसा गाँव में उनकी थार और पिस्टल पहुँची। जब 7 माह पहले उन्हे गोली से भून दिया गया था। मौके पर ही उन्हे मार दिया गया था जिससे उनके फैन्स तथा सगे सम्बन्धियों काफी सदमा लगा था। गायकी की दुनिया में अपार क्षति हुई है। सिध्दू मुसेवाला की कमी हमेसा खलेगी उनका सम्मान कोई नहीं ले सकता। कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने यह ऊचा मुकाम हासिल किया था ।
उनके पिता का कहना है कि जो सिध्दू मुसेवाला वाला के साथ हुआ वो किसी के साथ न हो। सरकार को चाहिए की आम आदमी को लाइसेंस प्रदान किया जाय ताकि किसी पर कोई आंच आने पर वह अपनी सुरक्षा कर सके।

रिपोर्ट: वंशिका सिंह