• Sat. Jan 28th, 2023

अमेरिका ने बनाया कृत्रिम सूरज

Us में कृत्रिम सूरज में असली सूरज से 10 गुना अधिक गर्म किरणें निकल सकती हैं अमेरिका के उर्जा विभाग ने 13 दिसंबर को बताया कि सालों के अथक परिश्रम के बाद न्युकिलीयर फ्यूजन से अधिक ऊर्जा प्राप्त करने वाले यंत्र को बनाया है। इस यंत्र से फ़्यूचर में लोगो को काफी सारी सुविधा मिलने वाली है। जिससे साफ सुथरी, प्रदूषण मुक्त ऊर्जा की सप्लाई की जा सकती हैं।
मिशिगन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ने बताया कि हमने अभी अभी फ्यूजन रिकॉर्ड तोडा है। न्युकिलीयर फ्यूजन एक परमाणु प्रक्रिया है जो दो परमाणुओ को जोड़कर नये परमाणुओ को कम द्रव्यमान में बनाती हैं। इसमें द्रव्यमान में अंतर को ऊर्जा में बदला जाता हैं। यहाँ पर E – MC2 लागू होता है। प्रकाश की गति बहुत अधिक होती हैं ऐसे में परमाणु के कुल द्रव्यमान की छोटी सी मात्रा को ऊर्जा में बदलने में काफी ज्यादा शक्ति लगती हैं यही प्रोसेस न्युकिलीयर फ्यूजन मे होता है।
इस प्रयोग को करने में करने के लिए एक सोने के कंस्टर में ड्युटेरियम और ट्री टीयम के एक्स्ट्रा न्यूट्रॉन के साथ हाइड्रोजन के दो अणुओ से बने ईंधन 1 मिलीमीटर पैलेट पर 192 लेजर दागे गए है।
टेकन्लाजी का असतित्व इतना प्रबल हो गया है कि आज मानव असम्भव कार्य करने मे भी सक्षम हो गया है हम चाँद और मंगल पर पैर रखने के बाद पृथ्वी पर सूर्य का निर्माण कर रहे है

रिपोर्ट: वंशिका सिंह