• Mon. Jan 24th, 2022

कितना असरदार होगा कोवाक्सिन और कोविशील्ड का मिक्सअप

कोरोना से बेचने के के लिए टीका मिलन का प्रयास चल रहा हैं । कई अध्ययन में विभिन्न टीकों के मिश्रण के प्रभाव को काफी कारगर पाया गया है। कई वैज्ञानिक एक ही टीके की दो खुराक लगवाने की बजाय दोनों खुराक में अलग-अलग तरह के टीके लगवाने की सलाह दे रहे हैं।फिलहाल कई तरह के कोरोना रोधी टीकों के मिश्रण को लेकर अध्ययन जारी है। एक अध्ययन में फाइजर कंपनी की एमआरएनए आधारित वैक्सीन और एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के मिश्रण पर अध्ययन चल रहा है। इन लोगों के रक्त में कोरोना रोधी एंटीबॉडी की मात्रा काफी ज्यादा पाई गई। अध्ययन में पाया गया कि दोनों खुराक में एस्ट्राजेनेका का टीका देने के मुकाबले पहली खुराक में एस्ट्राजेनेका का टीका और दूसरी खुराक में फाइजर का टीका देना अधिक असरकारी है।अपने शुरुआती अध्ययन में टीकों की मिश्रित खुराक लगवाने वालों में कोरोना के अल्फा, बीटा और डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता का स्तर सबसे अच्छा पाया है। इन लोगों के रक्त में कोरोना रोधी एंटीबॉडी की मात्रा काफी ज्यादा पाई गई।

सतीश कुमार (ऑपरेशन हेड, साउथ इंडिया)