• Wed. Jun 29th, 2022

रैलियों, सभाओं के बैन को बढ़ाने का लिया फैसला, यूपी और पंजाब में बढ़ रहे कोरोना केस

Jan 15, 2022

लखनऊ:पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रचार में ढील देना होगा उचित होगा या नहीं, इस पर चुनाव आयोग की समीक्षा का नतीजा आ चुका है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर आयोग ने फैसला लिया है कि रैलियों पर रोक 22 जनवरी तक लगी रहेगी।

इसके साथ ही पार्टियों की इनडोर मीटिंग में 300 लोगों या हॉल की क्षमता के 50% लोगों को शामिल करने की छूट दी जा चुकी है। 8 जनवरी को चुनाव तारीखों का ऐलान करते हुए आयोग ने प्रत्यक्ष प्रचार पर रोक लगा दिया गया था, सिर्फ सोशल मीडिया पर कैम्पेन करने की इजाजत मिल गई थी।

बीते छह दिन में कोरोना के ट्रेंड पर नजर डाला जाए तो चुनाव वाले दो बड़े राज्य उत्तर प्रदेश और पंजाब में ही कोरोना बेतहाशा बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। उत्तर प्रदेश में 8 जनवरी को 6401 केस आ गए थे, जो 14 जनवरी तक बढ़कर 15975 हो गए, यानी इनमें 150% की बढ़ोतरी दर्ज हो चुकी है। ऐसे ही पंजाब में 8 जनवरी को 3560 केस दर्ज हो गए थे, जो 14 जनवरी को 7552 हो गए, यानी इनमें 112% की बढ़ोतरी दर्ज हुई है। ऐसे में बंदिशें कम करने की बजाय बढ़ाने की जरूरत पड़ सकती है।

देश में शुक्रवार को 2 लाख 67 हजार 331 नए कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। 1 लाख 22 हजार 311 लोग ठीक हुए जबकि 398 लोगों की मौत हो गई है। इस तरह एक्टिव केस, यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में 1 लाख 44 हजार 662 की बढ़ोतरी दर्ज हो चुकी है। फिलहाल देश में 14.10 लाख एक्टिव केस ह गए हैं। तीसरी लहर में एक्टिव केस पहली बार 14 लाख के पार पहुंच गया है।

अंज़र हाशमी, प्रयागराज