• Sun. Oct 17th, 2021

यूपी से सैनिक स्कूलों की संख्या होगी दोगुनी, छात्रों का सपना हो सकेगा पूरा

लखनऊ। यूपी के सैनिक स्‍कूलों में पढ़ने के सपने संजोय छात्रों के लिए अच्‍छी खबर मिली है। यूपी में सैनिक स्‍कूलों की संख्‍या दोगुना से जल्द अधिक हो जाएगी। छात्रों का अनुशासन के साथ बेहतर शिक्षा हासिल करने का सपना पूरा करने में मदद मिलेगी। यहां दाखिले उम्‍मीद लगाए छात्रों को भी बड़ी काफी सुकून मिलेगा। सैनिक स्‍कूल सोसाइटी द्वारा यूपी में तीन स्‍कूलों का संचालन हो रहा है जबकि कैप्‍टन मनोज पांडे सैनिक स्‍कूल राज्‍य सरकार के काफी अधीन हो गए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दिशा में केंद्र सरकार के अनुमोदन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार के प्रति आभार पूरी तरीके से प्रकट किया गया है। उन्होंने कहा कि केन्‍द्र के अनुमोदन के बाद सैनिक स्‍कूल खोलने में निजी स्‍कूलों की सहभागिता बढ़ाने से यूपी में सैनिक स्‍कूलों में संख्‍या में काफी बढ़ोतरी की जाएगी। इससे दाखिला की राह काफी आसान हो सकेगी।

रक्षा मंत्रालय की ओर से पूरे देश में 33 सैनिक स्‍कूल संचालित होते जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 100 सैनिक स्कूलों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति, एनईपी 2020 के पाठ्यक्रम के अनुरूप मंजूरी मिल गई है। ये स्कूल निजी और सरकारी दोनों क्षेत्रों में स्थापित कर दिया जाएगा। वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार की पहल के चलते अन्‍य राज्‍यों की अपेक्षा यूपी में सैनिक स्‍कूल की संख्‍या सबसे ज्यादा होने वाली है। यूपी में रक्षा मंत्रालय द्वारा तीन सैनिक स्‍कूलों का संचालन हो रहा है।

यूपी में अमेठी, झांसी, मैनपुरी में सैनिक स्‍कूल संचालित हो रहे है जबकि बागपत में सैनिक स्‍कूल का निर्माण प्रस्‍तावित हो चुका है। इसके अलावा गोरखपुर में सैनिक स्‍कूल का निर्माण कार्य शुरू किया गया है। इसके लिए सरकार ने 90 करोड़ रुपए का बजट भी पास किया जा चुका है। इसके अलावा लखनऊ में यूपी सैनिक स्‍कूल का संचालन हो रहा है, जो राज्‍य सरकार के अधीन है । यह देश का पहला सैनिक स्‍कूल बन गया है। इसके बाद रक्षा मंत्रालय ने देश भर में सैनिक स्‍कूलों का निर्माण करने की पहल होगी। यह सभी स्‍कूल सीबीएसई से मान्‍यता प्राप्‍त है।

अंज़र हाशमी, उत्तर प्रदेश