• Mon. Jan 24th, 2022

सीएम नीतीश ने बाढ़ ग्रसित क्षेत्रों का लिया जायजा, प्रभावितों का खयाल रखने का दिया आदेश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को आरा और सारण जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लिया. इस क्रम में मुख्यमंत्री कोईलवर और बबुरा का जायजा लेते हुये छपरा पहुंचे. वह छपरा के डोरीगंज, मौजमपुर होते हुये सोनपुर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को देखा. उन्होंने बाढ़ प्रभावितों के लिए चलाए जा रहे सामुदायिक रसोई का भी जायजा लिया और खाना खा रहे लोगों से उनका हालचाल पूछा.सामुदायिक रसोई में भोजन कर रहे लोगों से उन्होंने बातचीत की और वहां की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली. इसके बाद रसोई के निकट चलाये जा रहे कोविड टीकाकरण केन्द्र का भी मुख्यमंत्री ने निरीक्षण किया.

निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि यहां पर रहे सभी लोगों की कोरोना जांच अवश्य कराएं और जो भी संक्रमित पाए जाते हैं तो उनके लिए अलग से व्यवस्था करें. उन्होंने सामुदायिक रसोई को और बड़ा करने के निर्देश देते हुए कहा कि यहां सहूलियत से अधिक से अधिक भोजन कर सकें, ऐसी व्यवस्था की जाए. लोगों को यहां किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसका ख्याल रखें. यहां टेंट के साथ-साथ अन्य जरुरी चीजों की भी पूरी व्यवस्था की जाए. दरअसल गंगा में उफान के कारण आरा-बक्सर एनएच 84 पर कई जगहों पर पानी चढ़ गया है। भागलपुर में एनएच-80 पर तीन से चार फीट पानी बह रहा है। भागलपुर और कहलगांव के बीच सड़क संपर्क भंग हो गया है। इंजीनियरिंग कॉलेज और ट्रिपल आईटी पहले ही बंद हो चुके हैं। वैशाली के अलावा मुंगेर, खगड़िया और कटिहार में भी स्थिति गंभीर होती जा रही है। समस्तीपुर के मोहिउद्दीनगर, मोहनपुर और विद्यापतिनगर के निचले इलाकों में गंगा का पानी पूरी तरह से फैल चुका है। जिले के मोहिउद्दीननगर-पतसिया पीडब्ल्यूडी सड़क के कुरसाहा पुल पर बाढ़ का पानी चढ़ गया है, जिस कारण लोगों को काफी परेशानी उठानी पर रही है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने मुसेपुर चौक पर रह रहे विस्थापित लोगों से बातचीत की उनकी समस्याएं सुनीं. उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि सामुदायिक किचेन को और बड़ा किया जाए ताकि सहूलियत पूर्वक अधिक से अधिक भोजन कर सकें. सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि लोगों को यहां किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसका ख्याल रखें. यहां टेंट के साथ-साथ अन्य जरुरी चीजों की भी पूरी व्यवस्था रखें. पशु चारा की पूरी उपलब्धता रखें. उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भी बातचीत की और कहा कि लोगों को राहत दिलाने के लिए जिला प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर सभी काम करें.मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने नवनिर्मित फोरलेन कोईलवर पुल पर रुककर सोन नदी एवं वीर कुंवर सिंह सेतु पर गंगा नदी की धारा एवं जलस्तर का जायजा लिया. पटना वापस आने के क्रम में मुख्यमंत्री ने जेपी सेतु पर रूककर गंगा नदी के जलस्तर का भी जायजा लिया।

प्रवीण भारद्वाज Reporters24x7

सहयोगी : शिक्षा मिश्रा