• Mon. Jun 21st, 2021

पायलट की नाराजगी से कांग्रेस हाईकमान का इंकार, एक बार फिर बगावत की खबरों को सूत्रों ने बताया बेबुनियाद

Jun 11, 2021 , ,

राजस्थान। जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने के बाद राजस्थान में एक बार फिर सचिन पायलट के बगावती तेवरों की खबरें सुर्खियों में छाई हुई हैं. हालांकि कांग्रेस के उच्च सूत्रों ने सचिन पायलट के बगावत की खबरों को निराधार बताया है और दावा किया है कि पायलट से किए गए सभी वायदे भी जल्द पूरे होंगे।इधर जितिन प्रसाद ने बीजेपी का हाथ थामा और उधर राजस्थान में एक बार फिर सचिन पायलट के बगावती तेवरों की खबरें आने लगीं हैं. यहां तक कि राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले पार्टी के अहम नेता भंवर जितेन्द्र सिंह ने भी बयान दे दिया कि सचिन पायलट के साथ किए गए वायदो को पूरा किया जाना चाहिए.
उच्च सूत्रों ने दावा किया कि सचिन पायलट के बगावत की खबरें गलत है और उनसे किये वायदो मे से काफी पूरे किए गए थे और जल्दी ही बाकी भी पूरे किए जाएंगे.

30 लोगों के मंत्री मंडल में खाली पड़े 9 पदों पर फंसा पेंच:
सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में 30 लोगों के मंत्री मंडल में खाली पड़े 9 पदों को जल्दी ही भरा जाना है और कोविड के हालात सुधरते हीं ये किया जाएगा. अब सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट इनमें से ज्यादा पदों पर अपने लोगों को मंत्री बनवाना चाहते हैं. कांग्रेस के सामने दिक्कत ये है कि अशोक गहलोत के पास जब खुद बहुमत नहीं था तब उन्होंने 6 बसपा से आए और 12 निर्दलीय विधायकों का समर्थन लिया था और अगर इस बार उनमें से किसी को मंत्री नहीं बनाया गया तो मुश्किल खड़ी हो जाएगी. यही नहीं, पिछली 24 लोगों के मंत्री मंडल में पायलट समर्थक 6 लोगों को मंत्री बनाया गया था जिनमें से 3 कैबिनेट मंत्री थे, मगर बाद में ये 6 लोग पाला बदलकर गहलोत खेमे में आ गए थे. सूत्रों का कहना है कि अगर पायलट समर्थक इन 6 विधायकों ने पाला बदल लिया तो इसे नेतृत्व की वादा खिलाफी भी नहीं कहा जा सकता है।हालात सुधरते ही राजस्थान मंत्री मंडल का विस्तार होगा।
सूत्रों का कहना है कि जल्दी हीं, जैसे हीं कोविड के हालात सुधरेंगे राजस्थान में मंत्री मंडल विस्तार भी किया जाएगा जिसमें सचिन पायलट से बात करके उनके कुछ और समर्थकों को जगह भी दी जाएगी और उनके बाकी समर्थकों को बोर्ड काररेशनो और पार्लियामेंट्री सचिव जैसे पदों पे जगह भी दी जाएगी. लिहाज़ा राजस्थान में गहलोत सरकार पर संकट नहीं है।

सचिन पायलट को केन्द्र में संगठन में मिल सकती है बड़ी ज़िम्मेदारी
सूत्रों ने ये भी बताया कि सचिन पायलट को जल्दी हीं केन्द्र में संगठन में बड़ी ज़िम्मेदारी भी दी जाएगी।

शुभम जोशी