• Mon. Jun 21st, 2021

राजधानी जयपुर सहित 6 जिलों में स्थापित होंगे आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय, युवाओं को रोजगार मिलेगा

राजस्थान। आयुर्वेद मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Raghu Sharma) ने कहा है कि प्रदेश में जयपुर सहित 6 जिलों में आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा से सबंधित महाविद्यालयों की स्थापना की जाएगी. उन्होंने कहा कि इन जिलों में महाविद्यालय की स्थापना के लिए स्वीकृति जारी कर दी गई है।आयुर्वेद मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में आयुर्वेद पद्धति की महत्ता भी प्रतिपादित हुई है. राज्य सरकार आयुर्वेद पद्धति के प्रचार-प्रसार और इससे सबंधित सुविधाओं को विकसित करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है।उन्होंने कहा कि आयुर्वेद विभाग में नयी भर्तियों और महाविद्यालयों की स्थापना से इस पद्धति का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सकेगा.
राजस्थान के जयपुर, कोटा, सीकर, बीकानेर और भरतपुर में राजकीय आयुर्वेद एवं योग और प्राकृति चिकित्सा एकीकृत महाविद्यालयों की स्थापना की जाएगी. उदयपुर में राजकीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा महाविद्यालय की स्थापना के लिए भी स्वीकृति दे दी गई है।
युवाओं को प्राप्त होंगे रोजगार के अवसर:
आयुर्वेद मंत्री ने कहा ​कि नए महाविद्यालयों की स्थापना के साथ ही इस क्षेत्र में रोजगार के नवीन अवसर भी उपलब्ध होंगे. उन्होंने ​कहा कि इन महाविद्यालयों की स्थापना की स्वीकृति के साथ 778 शैक्षणिक और अशैक्षणिक नवीन पदों के सृजन की भी स्वीकृति दी गई है, जिससे युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

शुभम जोशी