• Tue. Jun 22nd, 2021

वायरोलॉजिस्ट ने जताई यह आशंका क्या चीन ने पहले ही बना दी थी वैक्सिन

वुहान लैब से कोरोना वायरस की उत्पत्ति की थ्योरी के पक्ष में दुनियाभर में विचार मजबूत हो रहे हैं। लेकिन इस बीच एक और सवाल है कि अगर चीन से कोरोना वायरस निकला तो उसने इतनी जल्दी इस पर काबू कैसे पा लिया। क्या उसने इसकी वैक्सीन पहले ही बना ली थी। दरअसल, टॉप वायरोलॉजिस्ट को ऐसा ही प्रतीत हो रहा है कि चीन शायद दुनिया से यह सच छिपा रहा था और उसने महामारी से पहले ही वैक्सीन तैयार कर ली थी।न्यू इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, एक प्रसिद्ध भारतीय वायरोलॉजिस्ट ने दावा किया है कि संभवत चीन ने कोरोना वायरस के फैलने की या लीक होने की संभावना को देखते हुए पहले ही वैक्सीन विकसित कर ली थी। बता दें कि कई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस वायरस एक लैब में तैयार किया गया था। उन्होंने आशंका जताई कि वैक्सीन के शुरुआती दिनों में ही मौजूद होने से चीन को कोरोना वायरस को समय रहते कंट्रोल करने में मदद मिली। दुनिया की सबसे अधिक 140 करोड़ की आबादी वाले देश में दिसंबर 2019 में सिर्फ 91,300 संक्रमण के मामले दर्ज किए गए थे।वायरोलॉजी विभाग के प्रमुख वायरोलॉजिस्ट डॉक्टर टी जैकब ने कहा कि वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से संदिग्ध रिसाव को लेकर कुछ रहस्य है। चीन की कोविड-19 महामारी दुनिया में अनोखी थी।

सतीश कुमार (ऑपेरशन हेड, साउथ इंडिया)