• Wed. Dec 1st, 2021

भारी बारिश के अनुमान हेतु चेन्नै,के 3 मुख्य जिलो पर स्कुल और कॉलेज हुए बंद।

चेन्नई और आसपास के इलाकों में भारी बारिश ने अधिकारियों को आपातकालीन कदम उठाने के लिए प्रेरित किया है, जिसमें चार जिलों के स्कूलों को अगले दो दिनों तक बंद रखने का आदेश भी शामिल है। बचाव कार्य में मदद के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल को बुलाया गया है।चेन्नई और तीन अन्य जिलों में स्कूलों और कॉलेजों को अगले दो दिनों तक बंद रखने का आदेश दिया गया है क्योंकि उत्तरी तटीय तमिलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश हो रही है। अधिकांश सरकारी कार्यालय सोमवार को बंद रहेंगे। मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने निजी कंपनियों से छुट्टी की घोषणा करने या कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति देने की अपील की है।चेन्नई में रात भर बारिश हुई, रविवार सुबह 8.30 बजे तक 21 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। शहर के कई निचले इलाकों में पानी भर गया।मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव के कारण उत्तरी तटीय तमिलनाडु में अलग-अलग स्थानों पर रविवार को भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। विभाग ने सोमवार को भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना जताई है। इसने मंगलवार और बुधवार को एक और बारिश की चेतावनी भी दी है।चेन्नई के आसपास की झीलों में सूजन के साथ, चेम्बरमबक्कम झील से पानी छोड़ा जा रहा है। 85.4 फीट ऊंची इस झील में अब 82.35 फीट तक पानी है। 2015 में, भारी बारिश के बीच चेंबरमबक्कम झील से अचानक अत्यधिक निर्वहन के कारण चेन्नई में बाढ़ आ गई थी।अड्यार नदी के किनारे कांचीपुरम और चेंगलपट्टू जिलों में बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है। तिरुवल्लूर, चेंगलपट्टू और कांचीपुरम जिलों में स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया गया है।मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने जिला कलेक्टरों के साथ तैयारियों पर चर्चा की है और एग्मोर, पाडी ब्रिज, पाडी ब्रिज और जवाहर नगर सहित 14 जलभराव वाले क्षेत्रों का दौरा किया है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि उन्होंने मुख्यमंत्री स्टालिन से बात की है और उन्हें बचाव और राहत कार्यों में केंद्र से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है।भारी बारिश से सड़क और रेल सेवा प्रभावित हुई है। हालांकि कुछ उड़ानों में देरी हुई, लेकिन हवाई सेवाओं में कोई बड़ा व्यवधान नहीं आया है।

सतीश कुमार