• Fri. Sep 24th, 2021

तालिबान सरकार का जुल्म शुरू, 8 महीने की गर्भवती महिला की ली जान, चेहरे को बुरी तरह किया जख्मी

तालिबान के शासन में महिलाओं के साथ अलग-अलग तरह शोषण किया जाता था और अब सभी को डर है कि वही वक्त फिर से लौट आया है। एक तरफ जहां तालिबान इस बार अधिक उदार रहने का दावा कर रहा है वहीं दूसरी तरफ तालिबान के जुल्म की हैरान कर देने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं। आतंकवादियों ने एक गर्भवती महिला को मारने से पहले उसके चेहरे को बुरी तरह जख्मी कर दिया। महिला के पति और बच्चों के आगे ही उसकी जान ले ली। बीबीसी की एक रिपोर्ट ने मुताबिक महिला का नाम बान नेगर है और वह पुलिस में काम किया करती थी। तालिबान ने डोर-टू-डोर लोगों की तलाश कर रहा था और इसी दौरान महिला को उसके बच्चों और पति के सामने मार डाला गया। मृतक पुलिसकर्मी की ग्राफिक तस्वीरें सोशल मीडिया पर प्रसारित की गईं, जहां उसका शरीर खून से सने कालीन पर पड़ा हुआ था। अफगानिस्तान पर प्रभावी नियंत्रण करने के बाद से तालिबान ने कहा था कि वह पहले के मुकाबले अधिक उदार रहेंगे लेकिन उनके जुल्म की कहानियां कुछ और ही बयां करती हैं। प्रदर्शनकारी महिलाओं अपने लिए नागरिक अधिकारों को जारी रखने की मांग कर रही थीं।राष्ट्रपति भवन की ओर जाने की कोशिश कर रही थीं तो उग्रवादियों ने आंसू गैस और काली मिर्च के स्प्रे से उन्हें निशाना बनाया।

सतीश कुमार (ऑपेरशन हेड, साउथ इंडिया)