• Tue. Jan 18th, 2022

अगर चाचा पारस को केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिली तो जाऊंगा कोर्ट- चिराग

Jul 6, 2021 , , ,

लोक जनशक्ति पार्टी में हुई टूट के बाद एक बार फिर चिराग और पशुपति पारस के बीच जुबानी जंग छिड़ गई है। आज लोजपा सांसद चिराग पासवान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने चाचा और बागी लोजपा के सांसद पशुपति पारस पर निशाना साधा। उन्होंने पारस पर तंज कसते हुए कहा कि मैं दिल से यही चाहता हूं कि उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया जाए और मंत्री पद दिया जाए। उन्होंने मंत्री पद पाने के लिए इतनी बदनामी अपनी सर ली है तो उनकी मनोकामना भी पूरी होनी चाहिए।
प्रेश कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए चिराग ने कहा, “ मैं दिल से चाहता हूं कि पशुपति पारस मंत्री बनें, अगर उन्होंने अपनी निजी महत्वकांक्षा के लिए इतनी बदनामी ली तो उनकी मनोकामना पूरी हो।”
चिराग ने कहा वो लोक जनशक्ति पार्टी के कोटे से केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं हो सकते है। मैं आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को यह बता देना चाहता हूं कि वह चाचा पशुपति पारस को निर्दलीय मंत्री बना सकते है। अगर उन्हें लोजपा के कोटे से मंत्री बनाया गया तो मैं इसका विरोध करूंगा और कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाऊंगा। पर अगर वो जदयू में शामिल होकर केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह पाते है तो उससे मुझे कोई आपत्ति नहीं है।
जानकारी के लिए बता दें की मोदी कैबिनेट का विस्तार की खबरें खूब चल रही हैं। चर्चा यह भी हो रही है कि इस बार मंत्रिमंडल में चिराग पासवान के चाचा और दिवंगत नेता रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस को भी मंत्री बनाया जा सकता है।
चिराग पासवान ने लोजपा में हुई बगावत पर कहा कि जिन सांसदों ने पार्टी से बगावत की है उन्हें पार्टी से निकाला जा चुका है। उन्होंने यह भी कहा कि बागी सांसदों ने मेरे पिता हमारे नेता आदरणीय रामविलास पासवान के विचारों को कुचलकर अलग गुट बनाया है। इसे देखते हुए ही इन्हें पार्टी कार्यकारिणी से निष्कासित किया गया है।
चिराग ने कहा कि 95 फीसदी लोग मेरे साथ है और मैं चुनौती देता हूं की वो इसे गलत साबित करें। महागठबंधन में शामिल होने को लेकर चिराग ने कहा कि अभी मैं गठबंधन के बारे में विचार नहीं कर रहा हूं। जब चुनाव आएंगे तब इस पर विचार किया जाएगा। अभी मेरा पूरा ध्यान आशीर्वाद यात्रा पर है जिसके जरिए मैं बिहार की महान जनता से आशीर्वाद लूंगा।
सौरव कुमार