• Mon. Jan 24th, 2022

बुधादित्य योग: 7 जुलाई के बाद से इन पांच राशि के जातक होंगे धनवान

Jul 4, 2021

यहां पर बुधादित्य का अर्थ है बुध पर आदित्य यानी की सूर्य, इन दो ग्रहों को ज्योतिष शास्त्रों में सम्मिलित रूप से बुधादित्य का नाम दिया जाता है। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार, एक ही राशि में सूर्य और बुध ग्रह का समावेश अत्यंत शुभ माना जाता है। बुध ग्रह 7 जुलाई 2021 से मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे , जिसमें सूर्य पहले से मौजूद हैं। अतः, सूर्य और बुध ग्रह का एक हीं राशि में मौजूद रहने से कुछ राशियों पर इसके शुभ प्रभाव दिखेंगे। तो आइए जानते हैं किन राशियों पर इसका शुभ प्रभाव रहेगा_

कुंभ राशि:

7 से 16 जुलाई तक बुध तथा सूर्य के एक ही राशि में होने से कुंभ राशि के जातकों पर इसका अच्छा प्रभाव दिखने को मिलेगा। इस समय मान-सम्मान बढ़ेगा । साथ ही व्यवसाय और नौकरी में पद प्रतिष्ठा बढेगा। धन संपत्ति का लाभ होगा। पारिवारिक जीवन खुशहाल होंगे।

धनु राशि:
7 जुदाई से 16 जुलाई तक मिथुन राशि में सूर्य और बुध ग्रह का एक साथ होना धनु राशि वाले के लिए लाभप्रद है। इस दौरान धनु राशि के जातक के लिए सुख तथा धन प्राप्ति का योग बनेगा। इसके अलावा जातकों को आध्यात्मिक तथा धार्मिक कार्यों में शामिल होने के अवसर भी मिल सकते हैं। जिससे उन्हें पुण्य की प्राप्ति होगी।एवं नौकरी तथा व्यापार में बरकत होगी।

वृश्चिक राशि:
सूर्य और बुध ग्रह का 7 जुलाई से 16 जुलाई तक मिथुन राशि में एक साथ होना वृश्चिक राशि वालों के लिए भी अत्यंत सुखद होगा। इस समय जातक का नया वाहन या मकान खरीदने का योग बनेगा। निवेश या लेन-देन में भी लाभ होगा। दाम्पत्य जीवन सुखद होगा। कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी।

तुला राशि:
मिथुन राशि में 7 से 16 जुलाई तक सूर्य तथा बुध का एक साथ होना तुला राशि के लिए वरदान के रूप में सिद्ध होगा। क्योंकि इस दौरान ऐसे जातकों के मान सम्मान बढ़ेंगे। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। लेन-देन या निवेश के लिए भी यह समय शुभकारी होगा।

मिथुन राशि 7 जुलाई से 16 जुलाई तक सूर्य और बुध का एक साथ होने से मिथुन राशि के जातकों को पर शुभ असर दिखेगा। कार्यक्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी। अतः आपके कार्यों की हर जगह सराहना की जाएगी। इस दौरान वैवाहिक जीवन अत्यंत मंगलकाकारी होगी। साथ ही धन- धान्य में भी लाभ होगी।

प्रज्ञा भारती, बिहार।