• Thu. Dec 8th, 2022

उत्तरप्रदेश: ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट के बीच चलेगी पॉड टैक्सी, मिली हरी झंडी

जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) से ग्रेटर नोएडा तक पॉड टैक्सी (Pod Taxi) चलाने का रास्ता काफी हद तक साफ हो गया है। कुछ दिन पहले ही यमुना अथॉरिटी ने मेट्रो रेल के साथ ही पॉड टैक्सी के लिए भी बजट जारी किया है। चर्चा है कि शुरुआत में फिल्म सिटी (Film City) से जेवर एयरपोर्ट तक के 5.5 किमी के रूट पर पॉड टैक्सी चलाई जा सकती है। भारत में पॉड टैक्सी चलाए जाने का यह पहला प्रयोग है। हालांकि आईजीआई एयरपोर्ट (IGI Airport) पर भी काफी वक्त से पॉड टैक्सी चलाए जाने की चर्चा चल रही है। यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) की योजना मेट्रो रेल से जेवर एयरपोर्ट को आईजीआई एयरपोर्ट से जोड़ने की भी है।
गौरतलब रहे यमुना अथॉरिटी ने बीते सोमवार को ही अपना बजट जारी किया था. बजट में मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी मेट्रो, पॉड टैक्सी और रोड के लिए 300 करोड़ रुपये दिए गए हैं। सूत्रों की मानें तो बजट में पॉड टैक्सी के लिए दी गई रकम से शुरुआत में डीपीआर और फिजिबिलिटी जैसी रिपोर्ट तैयार होंगी। बजट के दौरान पॉड टैक्सी का प्रेजेंटेशन भी देखा गया था।
जेवर एयरपोर्ट और फ़िल्म सिटी के बीच तमाम मल्टीनेशनल कंपनियों के दफ्तर और कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनेंगे, इसे ध्यान में रखते हुए भी जेवर एयरपोर्ट से फिल्म सिटी तक के रूट को पहले फेज के लिए चुने जाने की चर्चाएं हैं।
पॉड टैक्सी दो तरह से चलती है, एक ट्रैक पर और दूसरा केबल की मदद से हैंगिंग मोड पर. लेकिन भारत में इसे ट्रैक पर चलाए जाने की योजना है। इस ट्रैक पर न तो रेड सिग्नल होगा और न ही जाम लगेगा। हालांकि विदशों में जो पॉड टैक्सी चल रही हैं वो 4 से 6 सीटर हैं, लेकिन भारत में 8 से 10 सीटर टैक्सी चलाए जाने की योजना है।
पॉड टैक्सी पूरी तरह से कंप्यूटराइज्ड होती है. इसमे ड्राइवर नहीं होता है. यह बैटरी से चलती है. लेकिन पॉड टैक्सी की शुरुआत करना कोई आसान काम नहीं है। पॉड टैक्सी के लिए बनाए जाने वाले एक किमी ट्रैक की लागत करीब 60 करोड़ रुपये आती है। टैक्सी में बैठने के साथ ही टच स्क्रीन की मदद से जहां आपको उतरना है उस स्टेशन का नाम लिखना होता है। स्टेशन आने पर टैक्सी खुद ही रुक जाएगी। किराए का भुगतान कार्ड से करना होता है।
नोएडा में गोल्फकोर्स के पास ही हेलीपोर्ट का निर्माण भी किया जा रहा है. यह हेलीपोर्ट महामहाया फ्लाई ओवर से पास और परि चौक से दूर है। लेकिन यात्रियों को परेशानी न हो इसके लिए अथॉरिटी की योजना ओखला बर्ड सेंचुरी मेट्रो रेल स्टेशन से हेलीपोर्ट तक पॉड टैक्सी चलाए जाने की है। इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर भी पॉड टैक्सी चलाने की योजना है। यहां टर्मिनल के बीच पॉड टैक्सी चलाई जा सकती है।
सौरव कुमार